Naidunia
    Saturday, November 18, 2017
    PreviousNext

    भोपाल के सुल्तानिया अस्पताल में टायलेट में हो गई प्रसूति

    Published: Fri, 01 Sep 2017 12:04 AM (IST) | Updated: Fri, 01 Sep 2017 09:11 AM (IST)
    By: Editorial Team
    bhopal hospital 01 09 2017

    भोपाल। सुल्तानिया अस्पताल में गुरुवार को प्रबंधन की लापरवाही के कारण एक महिला की डिलेवरी टॉयलेट में हो गई। महिला काफी देर तक टॉयलेट के ही अंदर तड़पती, चीखती और चिल्लाती रही पर स्टॉफ को उसकी पुकार सुनाई नहीं दी। एक घंटे तक नवजात कमोड में पड़ा रहा। दूसरी महिला टायलेट गई तब जाकर डॉक्टर्स और नर्स ने प्रसूता की सुध ली। नवजात कमला नेहरू अस्पताल में वेंटिलेटर पर है। प्रसूता की हालत भी गंभीर बताई जा रही है।

    सूखी सेवनिया निवासी मुस्कान (23) पति मनोहर वंशकार को डिलेवरी के लिए मंगलवार को सुल्तानिया अस्पताल में भर्ती कराया गया था। डॉक्टरर्स ने मुस्कान की कमजोर हालात देखते हुए एक-दो दिन में प्री मैच्योर डिलेवरी होने की आशंका जताई थी। साथ ही नर्सों समेत अन्य स्टाफ को निर्देश दिए थे कि उसकी ठीक से देखभाल की जाए। फिर भी गुरुवार दोपहर एक बजे मुस्कान टायलेट गई तो उस पर किसी ने ध्यान नहीं दिया।

    पेट में हो रहा था दर्द, नर्स ने अकेले भेज दिया टॉयलेट

    महिला के देवर रोहित वंशकार के मुताबिक प्रसूता मुस्कान के पेट में गुरुवार दोपहर पेट में तेज दर्द हो रहा था। अपने दर्द के बारे में जब महिला ने नर्स को बताया तो उसे टॉयलेट जाने के लिए कह दिया। यहां अचानक ही उसकी डिलेवरी हो गई। ऐसी हालत में महिला खुद को संभाल नहीं सकी और टॉयलेट में बेसुध होकर टॉयलेट में गिर गई और काफी देर तक दर्द से तड़पती रही।

    घटना के 7 घंटे बाद भी अधीक्षक पीपरे को नहीं थी जानकारी

    घटना के 7 घंटे बाद नवदुनिया संवाददाता ने रात 8 बजे जब अस्पताल अधीक्षक करण पीपरे से बात की गई तो उन्होंने घटना की जानकारी होने से ही इनकार कर दिया। साथ ही उन्होंने मामले को लेकर एचओडी अरुणा कुमार से बातचीत करने के लिए कहा। हालांकि उन्होंने दोषियों पर कार्रवाई करने की बात भी कही।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें