Naidunia
    Friday, November 24, 2017
    PreviousNext

    राष्ट्रपति की सुरक्षा में तैनात टीआई ने कार से प्रसूता को अस्पताल पहुंचाया

    Published: Mon, 13 Nov 2017 04:01 AM (IST) | Updated: Mon, 13 Nov 2017 03:01 PM (IST)
    By: Editorial Team
    bhopal ti president 20171113 15111 13 11 2017

    भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। राष्ट्रपति की सुरक्षा में तैनात हनुमानगंज थानाप्रभारी ने प्रसव पीड़ा से कार में तड़प रही महिला को समय रहते अस्पताल पहुंचाया। दरअसल, राष्ट्रपति की सुरक्षा के कारण बाणगंगा चौराहे पर चारों तरफ के ट्रैफिक को रोक दिया गया था। इसी दौरान एक कार ट्रैफिक में फंस गई थी, महिला कार में थी, जो गर्भवती थी, उसे अस्पताल पहुंचाने के लिए ड्यूटी पर तैनात टीआई से एक महिला ने गुहार लगाई।

    उन्होंने तत्काल ट्रैफिक को पीछा करने की कोशिश, लेकिन चालक वाहन रिवर्स नहीं कर पा रहा था तो उन्होंने स्वयं ड्राइविंग करके कार बाहर निकाली और महिला को समय पर अस्पताल पहुंचाया। महिला ने अस्पताल में एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया। टीआई की जिम्मेदारी देखकर महिला के परिजनों ने खुश होकर डीजीपी को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी।

    जानकारी के मुताबिक शुक्रवार सुबह करीब 8 बजे पॉलीटेक्निक चौराहे से राष्ट्रपति का काफिला निकलने वाला था। इस दौरान वाणगंगा चौराहे पर वाहनों को रोक लिया था। इस रूट पर हनुमानगंज टीआई सुधेश तिवारी तैनात थे। काफिला रोकने से चौराहे के चारों तरफ के वाहनों रोका गया था। इस दौरान एक बुजुर्ग महिला दौड़ती हुई पुलिसकर्मियों के पास पहुंची। उसने बताया कि मेरी बेटी की तबियत बहुत खराब है। वह गर्भवती है। उसे तत्काल अस्पताल पहुंचाना है। यह बात सुनकर टीआई सुधेश तिवारी कार के पास पहुंचे। काफी कोशिश करने के बाद कार रिवर्स करने दिक्कत हो रही थी। महिला प्रसव पीड़ा में थी।

    उन्होंने पीछे खड़े वाहन चालकों से वाहन पीछे करवाए। ड्रायवर को गाड़ी रिवर्स करने के लिए बोला, लेकिन वह दिव्यांग होने के कारण कार को ढंग से रिवर्स नहीं कर पा रहा था। इसे लेकर टीआई ने चालक को गाड़ी से उतारा और खुद ड्राइवर सीट पर जाकर बैठे। उन्होंने गाड़ी को रिवर्स लिया और रोशनपुरा की तरफ लेकर गए। वहां से बीआरटीएस कारीडोर में वाहन को लेकर निकले।

    वह पालीटेक्निक की तरफ बढे,तभी राष्ट्रपति की सुरक्षा का हवाला देते हुए पुलिसकर्मियों ने उनका रोका। लेकिन उन्होंने पूरी जिम्मेदारी खुद लेकर आगे बढ़े गए। तीन मिनट में हमीदिया अस्पताल पहुंचे और महिला को भर्ती करवाया। बाद में परिजन रिजवान ने टीआई को धन्यवाद दिया। साथ ही परिजनों ने खुश होकर डीजीपी को ट्वीट कर पूरे मामले से की जानकारी दी।

    जानकारी मिलने के बाद पूरी जिम्मेदारी लेकर उसे अस्पताल पहुंचाया। काफी मुश्किल काम था, राष्ट्रपति का काफिला गुजरने ही वाला था। महिला को अस्पताल में भर्ती कराया। उजरा सी भी देर हो जाती, तो अनहोनी हो सकती थी। महिला स्वस्थ्य है। इसकी खुशी भी है। सुधेश तिवारी, टीआई हनुमानगंज

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें