Naidunia
    Tuesday, October 24, 2017
    PreviousNext

    युवाओं पर फोकस करेगा संघ, विचारधारा से जोड़ने के लिए बनेगी रणनीति

    Published: Thu, 12 Oct 2017 11:22 PM (IST) | Updated: Fri, 13 Oct 2017 08:42 AM (IST)
    By: Editorial Team
    mohan bhagvat 12 10 2017

    भोपाल। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ अब युवाओं को संगठन से जोड़ने पर फोकस करेगा। इसके लिए संघ एक व्यापक रणनीति भी तैयार कर रहा है।

    राजधानी में चल रही अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक के पहले दिन सभी प्रांत से आए प्रचारकों ने पिछले छह माह के कामकाज का ब्योरा प्रस्तुत किया। संघ की योजना है कि 15 साल से छोटे बच्चे नियमित शाखा में शामिल हों। वहीं 15 साल से ऊपर की आयु के किशोरवय से लेकर युवाओं को साप्ताहिक मिलन कार्यक्रम से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है।

    छह महीने की समीक्षा

    अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक के पहले दिन संघ और चुनिंदा अनुषांगिक संगठनों के कामकाज की समीक्षा की गई। बैठक में विभिन्न् प्रांतों के प्रांत प्रचारकों ने उनके क्षेत्र में हुए कामकाज की रिपोर्ट संघ प्रमुख मोहन भागवत के सामने रखी। केरल बंगाल से आए प्रचारकों ने वहां की सरकारों के संरक्षण में संघ कार्यकर्ताओं के साथ हो रहे अत्याचार का भी विस्तार से ब्योरा रखा।

    राजधानी भोपाल के केरवा स्थित शारदा विहार आवासीय विद्यालय में चल रही बैठक में प्रांच प्रचारकों ने पिछले कामों का ब्योरा और अगले छह महीने की कार्ययोजना पर चर्चा की। संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले ने बताया कि हर साल अक्टूबर में होने वाली इस बैठक में पिछले छह महीने के कामकाज की समीक्षा होती है। इसके अलावा बैठक में संघ शिक्षा वर्ग के संबंध में भी चर्चा होगी।

    इसके जरिए संघ अपने कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित कर रहा है। पिछले साल के मुकाबले प्रशिक्षण वर्ग में कार्यकर्ताओं की संख्या 17 प्रतिशत बढ़ी है। अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की इस बैठक में संघ के छह अनुषांगिक संगठनों के संगठन महामंत्री भी आए हैं। इसमें भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री रामलाल भी शामिल हैं।

    सूत्रों के मुताबिक रामलाल ने भी भाजपा से जुड़े कामकाज का ब्योरा संघ के सामने रखा। इसके साथ ही यहां समरसता, वाल्मीकि जयंती, रविदास जयंती, विजयादशमी, शरद पूर्णिमा जैसे मौकों पर होने वाले संघ के कार्यक्रमों की भी समीक्षा की गई।

    प्रदर्शनी 'धरोहर" का उद्घाटन

    शारदा विहार आवासीय स्कूल में चल रही तीन दिवसीय बैठक के पहले दिन संघ के सह सरकार्यवाह सुरेश सोनी ने एक प्रदर्शनी का भी उद्धाटन किया। प्रदर्शनी में पद्मभूषण पुरस्कार से सम्मानित कुशोक बकुल रिनपोछे के जीवन दर्शन को दर्शाया गया है। यह उनका जन्मशताब्दी वर्ष है। रिनपोछे ने जम्मू-कश्मीर में शिक्षा के प्रसार और समाज सुधार को लेकर काम किया था।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें