Naidunia
    Saturday, November 18, 2017
    PreviousNext

    बिना परीक्षा दिए ही पास हो गए हजारों छात्र, आम आदमी पार्टी का आरोप

    Published: Fri, 08 Sep 2017 07:30 PM (IST) | Updated: Fri, 08 Sep 2017 07:34 PM (IST)
    By: Editorial Team
    alok agrawal 08 09 2017

    भोपाल। आम आदमी पार्टी के संयोजक आलोक अग्रवाल ने आरोप लगाया है कि राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयीन संस्थान ने ऐसे हजारों छात्रों को पास कर दिया, जो परीक्षा में बैठे ही नहीं थे। घोटाले में करोड़ों रुपए का लेनदेन भी हुआ है। पार्टी ने दोषी लोगों की गिरफ्तारी एवं विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित करने की मांग की है। आम आदमी पार्टी इस मुद्दे पर शनिवार से आंदोलन भी शुरू करेगी।

    'आप" के संयोजक ने पत्रकार वार्ता में दस्तावेजों के साथ घोटाले का खुलासा करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर भी आरोप लगाए। उन्होंने बताया कि नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग की सीनियर सेकंडरी (बारहवीं) की परीक्षा में ऐसे बच्चों को भी उत्तीर्ण कर दिया जो परीक्षा में बैठे नहीं थे।

    प्रदेश के रतलाम, सीहोर और उमरिया केन्द्र से इस साल 1200 बच्चे बैठे थे। प्रदेश में ओपन स्कूल के कुल 280 केन्द्र हैं। इनमें हजारों छात्र बैठते हैं। अग्रवाल ने इस घोटाले में करोड़ों रुपए के लेनदेन की आशंका भी जताई। उन्होंने विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन करने और डायमंड कान्वेंट हायर सेकंडरी स्कूल रतलाम, जवाहर नवोदय विद्यालय सीहोर और महर्षि विद्या मंदिर संजय गांधी बिरसिंहपुर पाली उमरिया केन्द्र के प्रभारियों की गिरफ्तारी और केन्द्रों की मान्यता रद्द करने की मांग की है। इन केन्द्रों पर मप्र से बाहर के बच्चों को अवैध रूप से पास कराने का खेल चल रहा है। उन्होंने इस संबंध में बच्चों के नाम और परीक्षा संबंधी दस्तावेज भी पत्रकारों को दिए।

    अफ्रीकी छात्र ने दी भिंड से परीक्षा

    अग्रवाल ने बताया कि अफ्रीकी मूल के 'मेते अल्फा याया" नामक छात्र ने उमा भारती हायर सेकंडरी स्कूल भिंड से परीक्षा दी और वह 12 वीं में पास हो गया। उसे हिन्दी जैसे विषय में 56 अंक मिले हैं। उन्होंने बताया कि यह मामला 2015 का है, इसका मतलब साफ है कि फर्जीवाड़े का यह खेल वर्षों से चल रहा है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें