Naidunia
    Monday, April 24, 2017
    PreviousNext

    बारात लगने के बाद दूल्हा गायब, इंतजार करती रही दुल्हन

    Published: Wed, 27 Apr 2016 08:15 PM (IST) | Updated: Wed, 27 Apr 2016 08:19 PM (IST)
    By: Editorial Team
    bride-53ba63f81707e exlst 27 04 2016

    छिंदवाड़ा। मुख्यमंत्री कन्या दान योजना के तहत दशहरा मैदान में 132 जोड़ों को एक दूसरे का जीवन साथी बनाने वैदिक मंत्रों को उच्चारण किया जा रहा था। सभी वर-वधू एक दूसरे के गले में वरमाला डाल रहे थे। उसी समय शादी के मंडप पर बैठक एक दुल्हन अपने दूल्हे का इंतजार करती रही। दूल्हा बारात लगने के बाद से ही मंडप से बिना बताए गायब हो गया था। बनगांव से आई दुल्हन रामकली उइके अकेली बैठी इंतजार कर रही।

    इस दौरान दोनों के परिजन परेशान होते रहे। नगर निगम अध्यक्ष धर्मेन्द्र मिगलानी ने दूल्हे की तलाश कराई और उसे बुलाया, तब दूल्हा-दुल्हन से सात फेरे लिए। वहीं बारात निकलते समय काराघाट के दूल्हा नंदकिशोर डोले और दुल्हन रोशनी की अचानक तबीयत बिगड़ गई। दोनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।

    इसके बाद उन्हें घर भेज दिया गया। जब उनके स्वास्थ्य में सुधार हुआ। उनके परिजन उन्हें लेकर वैवाहिक स्थल पर पहुंचे। दोनों जोड़ों का विवाह सम्पन्न् कराया गया। इसके पूर्व पुरानी नगर पालिका स्थित टाउन हाल से 132 जोड़ों की बारात एक साथ निकाली गई।

    बारात में डीजे पर विधायक सहित सभी जनप्रतिनिधिगण थिरक रहे थे। इसके बाद वैदिक मंत्रों से विवाह संपन्न् कराए गए। वही 3 मुस्लिम जोड़ों के निकाह कराया गया। इधर चार जोड़ों का बौद्धिक रीति रिवाज से विवाह हुआ। सभी जोड़ों को मुख्यमंत्री कन्या दान योजना के तहत उपहार दिया गया। वही प्रत्येक जोड़े को प्रशस्ति पत्र के साथ दस हजार की एफडी प्रदान की गई।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी