Naidunia
    Tuesday, December 12, 2017
    PreviousNext

    उद्घाटन के बाद भी प्रारंभ नहीं हुई बोली

    Published: Sat, 14 Oct 2017 04:09 AM (IST) | Updated: Sat, 14 Oct 2017 04:09 AM (IST)
    By: Editorial Team

    कृषकों को कैसे मिलेगा भाावांतर योजना का लाभ

    कृषि उपज मंडी प्रारंभ करने की मांग

    अमरवाड़ा(निप्र)। कृपज मंडी में बोली प्रारंभ नहीं होने के बाद कृषकों में बेचैनी बढ़ गई है। योजना पर मध्य प्रदेश शासन के द्वारा भावांतर भुगतान योजना का शुभारंभ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बीते गुरुवार को प्रदेश के समस्त ग्राम सभाओं को लाइव संबोधित कर किसानों से योजना उसकी प्रक्रियाओं और प्रभावों पर प्रभावी फसलों के मूल्य निर्धारण की प्रक्रिया की जानकारी दी थी। लेकिन इस क्षेत्र के लिए बड़ी ऊहापोह की स्थिति बनी हुई है। शासन ने कृषकों का पंजीयन 11 सितंबर से 11 अक्टूबर 2017 तक सहकारी समिति के माध्यम से तथा 12 अक्टूबर को वर्ष 17- 18 में भाावांतर भुगतान योजना अंतर्गत अनाज के उपार्जन हेतु खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के द्वारा पंजीयन फार्म जमा कराए गए। इसका उपयोग मंडी प्रारंभ हो तभी हो पाएगा। अमरवाड़ा विधानसभा क्षेत्र जो कि मुख्यालय से 150 से 200 किलोमीटर तक क्षेत्रफल में फैला हुआ है वहां का किसान अमरवाड़ा मंडी में लाकर अपनी उपज कैसे बेचे यह विचारणीय प्रश्न है।

    वहीं इस क्षेत्र में आजीविका का मुख्य साधन एकमात्र कृषि ही है। शासन की भाावांतर नीति अंतर्गत अपनी उपज का विक्रय अधिसूचित मंडियों में ही करने पर ही भाावांतर योजना मॉडल विक्रय दर का फायदा मिलेगा। जिसका की कृषकों को यूनिट नंबर के आधार पर राशि किसान के खाते में ही जमा कराई जाएगी। लेकिन अभी तक अमरवाड़ा में कृषि उपज मंडी प्रारंभ नहीं हो सकी है।

    कम दामों में बेचने का मजबूर

    कृषक अमरवाड़ा अपनी उपज मक्का अमरवाड़ा बाजार में 800 से 900 में बेचने को मजबूर है। दशक हो गए अमरवाड़ा में मंडी बने हुए। करोड़ों रुपए की लागत से विगत माह प्रदेश के कृषि मंत्री ने इस मंडी का लोकार्पण भी कर चुके है। परंतु अवस्थाओं सुविधाओं के अभाव से यहां उपज की नीलामी बोली फड़ पर प्रारंभ नहीं की गई। कृषकों ने मांग की है कि 1 सप्ताह के अंदर सभी सुविधाएं पूर्ण कर अमरवाड़ा मंडी प्रारंभ करें। जिसमें कृषकों को भाावांतर का लाभ मिल सके।

    इनका कहना है

    कुछ समस्याओं के कारण् खरीदी प्रारंभ नहीं सकी है। 16 अक्टूबर से हर हालत में मंडी में खरीदी प्रारंभ हो जाएगी।

    -आरएस गुमास्ता, मंडी सचिव

    ..................................

    उत्कृष्ट विद्यालय में हुआ विकासखंड स्तरीय दिव्यांग शिविर

    सैंकड़ों दिव्यांगों को दिए प्रमाण पत्र

    फोटो- 15 शिविर के दौरान उपस्थित हितग्राही।

    तामिया(निप्र)। विकासखंड स्तरीय दिव्यांग शिविर में सैंकड़ों स्कूली बच्चों के साथ विभिन्ना ग्रामों के दिव्यांगों ने पंजीयन कराने के साथ जांच के बाद दिव्यांगों को प्रमाण पत्र वितरित किए गए। स्थानीय उत्कृष्ट विद्यालय प्रांगण में जनपद अध्यक्ष उजरसिंह भारती, जनपद सदस्य प्रभा डेहरिया, श्रीमति बेलकुंवर, अंत्योदय सदस्य उमादेवी डेहरिया, सीईओ प्रवीण बंसोड, तहसीलदार केआर नीरज, बीआरसी जितेंद्र सिंह छौंकर, बीईओ सुश्री कला उइके, प्राचार्य केके बिलासपुरिया, बीएमओ डॉ विजय सिंह, डॉ कुलदीप भावरकर, महिला बाल विकास अधिकारी उषा पंद्रे, ई गर्वनेस मैंनेजर शैलेंद्र जैन सहित अन्य अधिकारी कर्मचारियों की मौजूदगी में हुआ। दिव्यांग शिविर में शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ हितेश रामटेके, नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ गोहिया श्रवण रोग विशेषज्ञ सुधीर शुक्ला, अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉ नरेंद्र हनोते, मेडिकल स्पेशलिस्ट डॉ दीपेंद्र सलामे ने अलग-अलग कक्ष में दिव्यांगों की जांच कर दिव्यांगता प्रतिशत के आधार पर प्रमाणपत्र जारी किए।

    शिविर में पहुंचे 422 दिव्यांग

    सीईओ प्रवीण बंसोड ने बताया कि विकासखंड स्तरीय दिव्यांग शिविर में मानसिक बहुविकलांग, श्रवण बाधित, अस्थिबाधित, दृष्टी बाधित 0 से 5 वर्ष तक में 17, 6 से 14 वर्ष तक के 154, 14 से 18 वर्ष के 42 तथा 18 वर्ष से अधिक वाले 210 कुल 422 दिव्यांगों ने शिविर ने भाग लिया। वही शिविर के दौरान चिकित्सकों द्वारा प्रदाय प्रमाणपत्र नोट विकलांग 193, 10 से 39 प्रतिशत विकलांगो की प्रतिशत के 56 तथा 40 प्रतिशत से अधिक 173 दिव्यांग प्रमाण पत्र दिए गए। वही जनपद पंचायत सीईओ श्री बंसोड ने बताया कि शिविर में 47 हितग्राहियों को प्रारंभिक जांच पात्रता श्रेणी में होने से पेंशन स्वीकृति की कार्यवाही की गई है।

    ......................

    ग्राम रक्षा समिति का होगा फिर गठन

    समिति सदस्य को मानदेय सात हजार सौ रुपए के साथ आनलाइन पंजीयन कार्ड देने की योजना पर चल रहा काम

    सात हजार एक सौ रुपये हर सदस्य को

    फोटो- 18

    तामिया(निप्र)। शासन स्तर पर ग्राम रक्षा समितियों का पुर्नगठन कर ऑनलाइन पंजीयन के बाद रक्षा समिति सदस्यों को मानदेय देने की योजना पर काम चल रहा है। बीते 23 सितंबर 2017 को नवदुनिया में 'बिना मानदेय के गश्त करने से ग्राम रक्षा समिति प्रमुख ने किया इंकार' खबर प्रमुखता से प्रकाशित की थी। नवदुनिया खबर का असर हुआ अब सामुदायिक पुलिसिंग के तहत पहले से काम कर रहे सक्रिय ग्राम नगर रक्षा समिति के सदस्यों के लिए एक राहत भरी खबर है। शासन स्तर पर ग्राम रक्षा समिति सदस्यों को सात हजार एक सौ रुपये मानदेय के साथ आनलाइन पंजीयन के साथ कार्ड देने की योजना पर काम चल रहा है। ग्राम रक्षा समिति के सक्रिय सदस्यों के लिए प्रस्तावित इस योजना के लिए फिलहाल सिवनी नरसिंहपुर छिंदवाड़ा के कुल 50 सदस्यों को लिया गया है। इस सभी को पुलिस मुख्यालय भोपाल में एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आगामी 29 अक्टूबर को भोपाल में होगा। ग्राम नगर रक्षा समिति के जिला प्रमुख शेषराव लाडे ने बताया कि सक्रिय ग्राम रक्षा समिति सदस्यों के साथ फिर से समिति का पुर्नगठन होगा। जिसके लिए आनलाइन पंजीयन पीएचक्यू द्वारा किया जाएगा। ग्राम रक्षा समिति सदस्यो को 2018 में पुलिस मुख्यालय द्वारा परिचय पत्र के साथ सात हजार एक सौ रुपये मानदेय देने की योजना प्रस्तावित है।

    पीएचक्यू के निर्देश पर होगा गठन

    ग्राम रक्षा समिति का फिर से गठन भोपाल पुलिस मुख्यालय के दिशा निर्देशो पर होगा। जिसके लिए आवेदन जिले में उपलब्ध होने के बाद फार्म आनलाइन भरने के साथ परिचय पत्र कार्ड के लिए शुल्क 200 निर्धारित किया गया है। जो जिले के पुलिस अधीक्षक के माध्यम से पुलिस मुख्यालय भेजे जाएंगे। जिला रक्षा समिति प्रमुख श्री लाडे के मुताबिक ग्राम रक्षा समिति के पुनर्गठन के साथ समिति सदस्यों के चरित्र प्रमाण पत्र संबंधित थाने से लिए जाने को लेकर भी रेंज डीआईजी से चर्चा चल रही है।

    29 अक्टूबर को होगा प्रशिक्षण

    तामिया के ब्लाक रक्षा समिति प्रमुख आकाश मंडराह ने बताया कि सिवनी, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा के 50 चुनिंदा सक्रिय सदस्य जिनके पास वर्दी उपलब्ध करायी गयी है थानावार 5 सदस्यों की टीम बनाई जा रही है। 28 अक्टूबर की शाम को भोपाल रवाना होंगे। 29 अक्टूबर को पुलिस मुख्यालय में एक घंटे का प्रशिक्षण कार्यक्रम में तीन जिलों के 50 रक्षा समिति सदस्यों को प्रशिक्षण दिया जायेगा। वही भोपाल आने जाने में सदस्यों को स्वयं के व्यय भार उठाना पडेगा।

    दिव्यांगों के हीरों है नियाद- गौरव तिवारी

    सतपुड़ा प्रोडेक्शन की टीम चैन्नई रवाना

    फोटो-19

    छिंदवाड़ा(ब्यूरो)। सतपुड़ा प्रोडक्शन छिंदवाड़ा द्वारा जियो और जीने दो की थीम पर बनाई गई लघु फिल्म दिव्यांगों के मसीहा नियाद अली का चयन अन्तर्राष्ट्रीय विज्ञान फिल्म महोत्सव के लिए हुआ। फिल्म महोत्सव में पूरे विश्व से चयनित फिल्मों का प्रदर्शन चैन्नई आईआईटी में 14, 15 एवं 16 अक्टूबर 2017 को होगा। जिसमें सम्मलित होने छिंदवाड़ा सतपुड़ा प्रोडेक्शन के डायरेक्टर दीपकराज जैन, आकाश लालवानी, केमरामैन अमित नाथानी एवं सूरज लालवानी चैन्नई के लिए रवाना हुए जिन्हें कलेक्टर जेके जैन ने शुभकामनाए दी। साथ ही पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी, निगम कमिश्नर इच्छित गढ़पाले, जिला शिक्षा अधिकारी एसआर बघेल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीरज सोनी के साथ शुभचिंतकों ने विदाई दी। एसपी श्री तिवारी ने कहा कि फिल्म का चयन होना जिले के लिए गौरव की बात है। नियाद पर बनी फिल्म से दिव्यंगों को प्रोत्साहन मिलेगा। साथ ही ऐसी छुपी हुई प्रतिभाओं को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर उभारने का जो कार्य किया गया हैं वह बहुत ही सराहनीय कार्य है।

    सांई शताब्दी समारोह आयोजन की तैयारियां जोरों पर...

    भव्य एवं दिव्य कथा होगी...

    छिंदवाड़ा(ब्यूरो)। सच्चिदानंद सेवा समिति सांई मंदिर विवेकानंद कॉलोनी द्वारा सांई बाबा की समाधी के 100 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में अति भव्य और दिव्य समारोह का आरंभ किया जा चुका है। सच्चिदानंद सेवा समिति के कार्यक्रम सचिव आनंद बक्षी ने बताया की संपूर्ण वर्ष चलने वाले इस भव्य समारोह के अंतर्गत दिनांक 23 अक्टूबर दिन सोमवार से प्रतिदिन दोपहर 2 बजे से शाम 6 बजे तक विवेकानंद कॉलोनी में सांई कथा का आयोजन किया गया है। यह भव्य एवं दिव्य सांई कथा श्री शिर्डी साई बाबा के ग्रंथ सांई चरित्र पर आधारित होगी।

    आनंद बक्षी ने बताया की सुप्रसिद्ध कथावाचक, पुराणमर्मज्ञ पण्डित मनोज महाराज खंडवा वालों के मुखारबिन्द से सांईरस वर्षा होगी। मनोज महाराज सुप्रसिद्ध ज्योतिषी, भगवताचार्य पं किशनलाल शर्मा के सिपुत्र है। पं मनोज महाराज देश के अनेक हिस्सों में कथावाचन कर चुके है। सच्चिदानंद सेवा समिति द्वारा आयोजन की तैय्यारी हेतु निरंतर बैठके की जा रही है। सभी सांई मंदिरों, महिला मंडलों, धार्मिक, सांस्कृतिक, साहित्यिक संस्थाओ, रामायण मण्डल, दुर्गा उत्सव समितियो, गणेश उत्सव समितियो से कथा हेतु सहभागिता के उद्देश्य से सम्पर्क किया जा रहा है। सच्चिदानंद सेवा समिति के बी एम वाघमारे, सुधाकर राव पुराणिक, दत्तात्रय तुन्कीकर, एस आर तावले, व्ही एस राजपूत, डी आर उपासे, विनोद शर्मा, नोखेलाल चौरसिया, शिव माटे, उत्तम लिखार, भगवंत अल्डक, अविनाश पण्डित तैयारियों में जुटे हुए है।

    ........................

    युवा सेन समाज के प्रदेश अध्यक्ष का हुआ आगमन

    अमरवाड़ा(निप्र)। नगर में विगत दिवस पूर्व प्रदेश सेन समाज के अध्यक्ष दिनेश वंदेवार का आगमन हुआ। जिन्होंने अमरवाड़ा ब्लॉक सेन समाज के पदाधिकारियों से चर्चा कर आगामी कार्यक्रमों की रूपरेखा बनाई। वही सुभाष सेन शरद सेन ने केश शिल्पी योजना के पर लाभांवित होने वाले हितग्राहियों को अधिक से अधिक लाभ दिलाने पर चर्चा की। इस अवसर पर ब्लॉक सेन समाज अध्यक्ष श्रीराम सराठे, राजेश बंदेवार, प्रदीप सराठे, युवा सेन समाज अध्यक्ष शरद सेन, सुधीर सराठे, संतु बंदेवार, कमलेश बंदेवार द्वारा स्थानीय बस स्टैंड पर प्रदेश अध्यक्ष का स्वागत किया।

    .........................

    एनएच 547 से जुड़ेगी हर्रई ब्लॉक की झिरना रोड

    अमरवाड़ा/ जुगावानी। जुगांवानी से धनोरा- झिरना तक की लगभग 32 किलोमीटर की सड़क सांसद कमलनाथ द्वारा स्वीकृत कर दी गई है। ब्लॉक युवक कांग्रेस की मीडिया प्रभारी शरद सेन ने बताया कि सांसद निधि से 32 किलोमीटर की सड़क का निर्माण होने जा रहा है। जिससे ग्रामीणों को कम समय में नेशनल हाईवे रोड से जुड़ने का मौका मिलेगा। इस अवसर पर सभी ग्रामीणों और युवक कांग्रेस ने सांसद कमलनाथ का आभार माना।

    और जानें :  # chhindwara news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें