Naidunia
    Tuesday, December 12, 2017
    PreviousNext

    ग्रामीणों को पिलाई निःशुल्क स्वाइन फ्लू से बचाव की दवा

    Published: Sat, 14 Oct 2017 04:09 AM (IST) | Updated: Sat, 14 Oct 2017 04:09 AM (IST)
    By: Editorial Team

    दमुआ(निप्र)। गुरुवार हाट बाजार के दिन नन्दन में भारतीय जनता पार्टी के स्थानीय चिकित्सा प्रकोष्ठ से सम्बद्ध कार्यकर्ताओं ने ग्रामीणों को स्वाइन फ्लू से बचाव के निमित्त निःशुल्क दवा पिलाई। शिविर का आयोजन भाजपा चिकित्सा प्रकोष्ठ ने किया था। प्रकोष्ठ से जुड़े डॉ रामकुमार मालवीय ने बताया कि शिविर में भारतीय जनता पार्टी से जुड़े अनेक स्थानीय नेता शामिल हुए। हाट बाजार होने की वजह से सैंकड़ों लोगों को खतरनाक बीमारी स्वाइन फ्लू से बचाव करने वाली दवाई पीने का मौका मिला ।

    .......................

    कार्तिक के महीने में सावन सी झमाझम

    दमुआ में लगातार आठ दिनों से रोज हो रही बारिश

    दमुआ(निप्र)। क्षेत्र में बीते आठ दिनों से रोजाना झमाझम बारिश हो रही है। लोगों को ठंड के साथ कुदरत सावन की झड़ी का भी अहसास करा रही है। दमुआ और उसके आसपास के क्षेत्र में बारिश का मौसम सूखा ही रहा था। इस बार खास तौर पर सावन का पूरा महीना बिना बारिश का बीता। शहर के बीच से गुजरी कन्हान नदी के दोनों किनारों को भी पानी छू नहीं पाया था। अब कार्तिक के महीने में जब ठंड पड़नी शुरू हो जाती है यहां सावन की झड़ी की तरह बारिश हो रही है। बीते आठ दिनों से दिन में कभी कभार सूरज के दर्शन तीखी चुभन भरी गर्मी और उमस के साथ होते है, लेकिन उसके बाद कभी भी बादल उमड़ कर बरस जाते है। दीपावली के चलते यह समय घर की साफ सफाई पुताई का भी है। लेकिन मौसम के बदलते मिजाज ने लोगो को फिलहाल साफ सफाई करने से रोके रखा है ।

    ..................

    दमुआ में रेत का खेल फिर शुरू

    जगह-जगह फिर होने लगा भंडारण

    असली वजह है कृषि कार्य के लिए उठाए गए ट्रैक्टर्स का रेत सहित खनिज दोहन और परिवहन

    दमुआ(निप्र)। बारिश के बीतने के साथ ही दमुआ रामपुर चीकटबर्री कांगला स्थित बोरनाला सहित छोटे बड़े रेत के ठिकानों से अवैध रेत का दोहन भंडारण और परिवहन एक बार फिर जोरदार तरीके से शुरू हो गया है। शहर के कम से कम पचास ट्रैक्टर्स के जरिए ट्रैक्टर्स मालिक रेत माफिया के लिए जगह जगह रेत का संग्रहण कर रहे है। रात होते ही इकट्ठी की गई रेत ट्राला और डंफर्स से बाहर पहुंचाई जा रही है। दमुआ में कन्हान नदी के ठिकाने बड़े रेलवे पुल के पास हर्राबन हनुमान दफाई नंदन चिकटबर्री कन्हान का सहायक बोरनाला नंदोरा जैसे आधा दर्जन से द्ययादा ठिकानों से ट्रैक्टर्स मालिको के मजदूर रोजाना कई ट्रिप्स रेत ट्रालियां निकाल कर कन्हान के जीवन को बरबाद करने पर आमादा है।

    रेत के इस अवैध धंधों की सबसे खास बात यह है कि दमुआ में रेत राजस्व विभाग और वन क्षेत्र से निकाली जा रही है और पुलिस थाने के पास से रेत से भरे वाहन धड़ाधड़ इस तरह गुजर रहे है जैसे रेत के सारे अवैध कारोबार को अनुमति के साथ संरक्षण दोनो प्राप्त हो ।दमुआ में इस समय रेत खदान का आवंटन नही है ऐसी स्थिति में क्षेत्र में चल रहे सारे के सारे निर्माण कार्य भी चोरी की रेत से धकाधक जारी है । इस तरफ मुख्य रूप से खनिज विभाग का ध्यान रहना चाहिए वह तो पूरी तरह धृतराष्ट्र बना हुआ है लेकिन बाकी के वन राजस्व और पुलिस जैसे जिम्मेदार विभागों का मौन और इस तरफ से मूंदी हुए उनके नयन कुछ और ही इशारा कर रहे है ।

    बुधवार गुरुवार की रात हो चुकी है रेत माफियों में झड़प

    सूत्र बताते है कि क्षेत्र में रेत के धंधे में वर्चस्व कायमी को लेकर जामई और दमुआ के रेत से जुड़े चेहरों के बीच अच्छी खासी गाली गलौच और झड़प हो चुकी है ।खबर है कि जुन्नाारदेव के रेत माफिया के कुछ वाहन दमुआ नंदोरा से रात को पार हो रहे थे ।दमुआ में रेत की आपूर्ति करने वाले एक शख्स ने इसकी खबर 100 पर दी ।वाहन जगह तक पहुँचा भी आरोप है कि बढ़िया डीलिंग के बाद इस तरफ से आंखे मूंद ली गयी ।दमुआ के शख्स को यह नागवार लगा और उसने जुन्नाारदेव के रेत माफिया के वाहन के चालक परिचालक से झड़प कर ली ।

    आवरिया खदान का ऑक्शन और दमुआ की कन्हान पर नजर

    अभी दो चार दिन पहले ही आवरिया रेत खदान के ठेकेदार के पार्टनर्स दमुआ पहुंचे थे । खदान से रेत नही निकालने देने के आरोप के साथ इन लोगो ने मीडिया और पुलिस दोनों को यह समझाने की कोशिश की थी कि वे लोग सारे जायज दास्तावेजों के आधार पर रेत का दोहन और परिवहन इसी मार्ग से करना चाहते है ।

    ..............................

    फाइल क्रमांक 13

    और जानें :  # chhindwara news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें