Naidunia
    Monday, August 21, 2017
    PreviousNext

    घर से 200 मीटर दूर कुएं में खड़ा मिला पांच दिन पहले लापता हुआ बालक

    Published: Wed, 09 Aug 2017 01:01 AM (IST) | Updated: Wed, 09 Aug 2017 09:13 PM (IST)
    By: Editorial Team
    child in well datia 201789 12529 09 08 2017

    दतिया- भांडेर। भांडेर के काजीपाठा मौहल्ले से शुक्रवार शाम संदिग्ध हालत में लापता हुआ बालक युवराज कुशवाहा पांचवे दिन मंगलवार की सुबह अपने मकान से महज 200 मीटर दूरी पर कुएं में जीवित मिल गया। बालक जिस कुएं में खड़ा हुआ मिला है वह 80 मीटर गहरा है तथा उसमें एक फुट पानी व दलदल है। बालक कुएं में कैसे पहुंचा यह अभी स्पष्ट नहीं हो सका। बालक के सकुशल मिलने पर पुलिस ने राहत की सांस ली।

    बालक युवराज के पिता राजेश ने कहा कि वह उम्मीद छोड़ चुके थे, जबकि मां लक्ष्मी को भरोसा था कि ईश्वर उसके युवराज को सकुशल लौटाएगा। घटना को लेकर जहां बालक के पिता राजेश संदहियों की ही भूमिका बता रहा है वहीं पुलिस को राजेश के परिवार पर ही शक है, बालक की बरामदी के बाद बालक ने सीडब्ल्यूसी के समक्ष बयान दिए है जो संदेहियों पर लगाए गए आरोप की पुष्टि नहीं कर रहे हैं। फिलवक्त पुलिस ने बालक के लापता होने से कुएं से बरामदी होने तक के घटनाक्रम को जांच में लिया है।

    एसपी मयंक अवस्थी ने मंगलवार को पुलिस कंट्रोल रूम में पत्रकारों को घटना के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि शुक्रवार शाम बालक युवराज के संदिग्ध परिस्थियों में लापता होने के बाद परिजनों ने भांडेर थाने में गुमशुगदी दर्ज कराई थी।

    बालक के पिता ने जिन लोगों पर संदेह व्यक्त किया उनसे पुलिस ने पूछताछ की। बालक को सकुशल ढूढने के लिए एएसपी सुरेन्द्र सिंह गौर के मार्गदर्शन में एसडीओपी सुरेन्द्र सिंह परमार के समंवय में गठित टीमों में शामिल बड़ौनी थाना प्रभारी रिपुदमन सिंह, दुरसड़ा थाना प्रभारी इला टंडन, भांडेर थाना की सब इंस्पेक्टर श्वेता सिकरवार ने बालक की पतारसी के लिए मुखबिर तंत्र सक्रिय किया।

    मंगलवार को मुखबिर ने सूचना दी कि युवराज फरियादी के घर से 200 मीटर दूरी पर कुएं में मौजूद है। मौके पर पुलिस टीम ने जाकर मोहल्ले के काजिमउददीन सिददकी व अन्य लोगों के सहयोग से बालक को सकुशल कुएं से बाहर निकाला, बालक के परिजनों को सूचना दी तथा बालक का मेडिकल चेकअप कराया तथा सीडब्ल्यूसी के समक्ष प्रस्तुत कर बालक के बयान कराए गए।

    फरियादी का आरोप संदेहियों ने किया था रंजिशन अगुवा

    फरियादी राजेश के मुताबिक उसके पड़ोसी रामबिहारी परिहार व बल्लू परिहार ने सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर मकान बना लिया है। ढाई महीने पहले मैंने अतिक्रमण का विरोध करते हुए सीएम हेल्प लाइन में शिकायत की थी, प्रशासन ने सहयोग नहीं किया जिससे यह लोग अतिक्रमण करने में सफल रहे इसी बात से रंजिश मान कर दोनों भाईयों ने ही युवराज को अगुवा किया था।

    पुलिस और मेरे मित्रों की चौकसी के कारण वह उसे भांडेर से बाहर नहीं ले जा सके। संभवता उन्होंने ही पकड़े जाने के भय से बालक को कुएं में उतारा। जिस कुएं में युवराज खड़ा मिला है उस कुएं को मैं युवराज के लापता होने के बाद कई बार झांक कर देख चुका हूं। मैंने युवराज के जीवित लौटने की उम्मीद छोड़ दी थी। मंगलवार को पंडोखर सरकार के पास गया उन्होंने कहा कि बालक भांडेर से बाहर नहीं है उसकी पुनः तलाश कराओ। मैंने भाई व मां को कहा फिर से आसपास तलाशी करो तो युवराज कुएं में जीवित मिल गया।

    बालक के लापता होने की घटना में परिजनों की भूमिका की भी होगी जांच-

    वहीं पुलिस का दावा है कि बालक ने सीडब्ल्यूसी के समक्ष जो बयान दिए है वह संदेहियों की भूमिका को नकार रहे हैं। बालक ने बताया है कि उसे बड़ी मम्मी ने कुएं में उतारा तथा बड़े पापा के घर उसने खाना खाया था, हालांकि अबोध बालक की बात पर इतनी जल्दी भरोसा नहीं किया जा सकता। फिर भी बालक के लापता होने से कुएं से बरामदी तक के पूरे घटनाक्रम की विवेचना की जा रही है।

    बालक की सकुशल बरामदगी पर टीम को 10 हजार का नकद इनाम-

    पांच दिन बाद बालक युवराज को सकुशल बरामद करने में जुटी पुलिस टीम को एसपी मयंक अवस्थी ने 10 हजार रुपए के नकद पुरस्कार की घोषणा की है। वहीं बालक के सकुशल मिलने पर भांडेर नगर के लोगों ने विवेचना में जुटी पुलिस टीम की सराहना की है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें