Naidunia
    Sunday, February 19, 2017
    PreviousNext

    सागौन की अवैध कटाई जोरों पर, जंगल में ही बना रहे पटिए

    Published: Fri, 17 Feb 2017 04:03 AM (IST) | Updated: Fri, 17 Feb 2017 04:03 AM (IST)
    By: Editorial Team

    कन्नाौद। निज प्रतिनिधि

    कन्नाौद-खातेगांव वनपरिक्षेत्र के जंगल में बेशकीमती सागौन पेड़ों की अवैध कटाई लकड़ी माफिया दिन दहाड़े खुलेआम कर रहे हैं। ऐसा ही एक नजारा गुरुवार को कन्नाौद वनपरिक्षेत्र सीमा से लगे हुए खातेगांव वनपरिक्षेत्र सीमा के ग्राम गढ़वाय और लीली के जंगल में देखने को मिला।

    यहां कई विशालकाय सागौन के पेड़ों को लकड़ी माफियाओं ने काटकर सूखने के लिए वहीं पर छोड़ रखा है। सूखे पेड़ों के चार-चार फुट के गुल्ले कर जंगल में ही पटिए बनाने के लिए छोड़ दिया है। एक स्थान पर तो दिन-दहाड़े कुल्हाड़ी से पटिए बनाए जा रहे थे। इससे सहज ही अंदाजा लग जाता है कि लकड़ी माफियाओं में वनविभाग के अधिकारी-कर्मचारियों का कोई खौफ नहीं है। एक ओर जंगल में अवैध कटाई की सूचना जब खातेगांव वनपरिक्षेत्र रेंजर और सबडिवीजन के एसडीओ को दी गई तो उन्होंने अनभिज्ञता जताते हुए ग्राम गढ़वाय और लीली का जंगल वनविकास निगम का बताकर पल्ला झाड़ने का प्रयास किया। दूसरी ओर कन्नाौद वनपरिक्षेत्र रेंजर वंदना ठाकुर से कई बार मोबाइल पर संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन उन्होंने कॉल रिसिव नहीं की।

    कटाई नहीं

    -वनपरिक्षेत्र में सागौन की अवैध कटाई नहीं हो रही है। आप जिस स्थान की बात कर रहे हैं वह हमारे पास नहीं है।

    -राजेंद्रसिंह सिसौदिया, रेंजर, वनपरिक्षेत्र खातेगांव

    निगम के पास

    -ग्राम गढ़वाय और लीली क्षेत्र का जंगल वनविकास निगम के पास है। अभी मैं मिटिंग में हूं बाकी बात बाद में करेंगे।

    -पीके पाराशर, एसडीओ, सब डिविजन कन्नाौद-खातेगांव

    और जानें :  # dewas # kannod # forest # wooden
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी