Naidunia
    Thursday, November 23, 2017
    PreviousNext

    निसरपुर पुल डूबा, निचली बस्तियों तक पहुंचा पानी

    Published: Thu, 14 Sep 2017 08:34 PM (IST) | Updated: Thu, 14 Sep 2017 08:48 PM (IST)
    By: Editorial Team
    susari water 2017914 204235 14 09 2017

    सुसारी-निसरपुर (धार)। आंखों में आंसू लिए पुश्तैनी घर और दुकानें हटाने का दर्द गुरुवार सुबह निसरपुरवासियों के चेहरे पर साफ झलक रहा था। उरी-बाघनी नदी के बैक वाटर का पानी पुल को डुबोने के बाद निचली बस्तियों में घरों और दुकानों तक पहुंच गया। दोपहर में नर्मदा का जलस्तर राजघाट पर 127.40 मीटर तक पहुंच गया था, शाम को कलेक्टर व एसपी ने निसरपुर व चिखल्दा का दौरा किया।

    निसरपुर के बाशिंदे जिस स्थिति को 34 सालों से टालने में लगे थे, वही हालात गुरुवार को यहां बने। प्रशासन के अमले को शायद इस दिन का इंतजार था कि लोग हटेंगे। न बल प्रयोग, न कोई बढ़ा विरोध, सिर्फ और सिर्फ पानी का दबाव जो निसरपुर के लोगों को पुनर्वास की ओर रुख करने को मजबूर कर देगा और इसकी शुरुआत अब हो गई है। बैक वाटर बढ़ने पर सुबह 7 बजे नर्मदा नदी किनारे रखी अस्थायी गुमटियों और पतरे के शेडों को बच्चे, बड़े और महिलाएं हटाने में लग गईं।

    पानी बढ़ा तो विस्थापन भी बढ़ा

    दोपहर में पानी मछली बाजार में लोगों के घरों के सामने तक पहुंच गया। उसके बाद यहां भी लोगों ने घरों में से सामान निकालना प्रारंभ कर दिया था। शाम 4 बजे तक निचली बस्ती में से 30 मकान और 10 दुकान व गुमटियों को लोग खाली कर चुके थे।

    65 साल की उम्र में भी डटे रहने का जज्बा

    निसरपुर की निचली बस्ती में 65 साल की विधवा सूखाबाई पति गंगाराम के घर के नीचे दोपहर 2 बजे तक बैक वाटर आ गया, लेकिन वे हटने को तैयार नहीं हुईं। उन्होंने बताया कि अभी तक उन्हें किसी भी प्रकार के पुनर्वास पैकेज का लाभ नहीं मिला, तो वे क्यों घर छोड़े? यदि घर खाली कर दिया तो अधिकारी कहेंगे पुनर्वास में बस गए।

    कलेक्टर-एसपी पहुंचे निसरपुर जनपद

    शाम 4 बजे कलेक्टर श्रीमन शुक्ला व एसपी वीरेंद्रसिंह निसरपुर जनपद पंचायत भवन पहुंचे। यहां लगभग 40 मिनट तक स्थानीय प्रशासनिक अध्ािकारियों की बैठक के बाद जिले के अंतिम छोर के ग्राम चिखल्दा के लिए रवाना हुए। संयुक्त कलेक्टर हरेंद्र नारायण, एसडीएम रिशव गुप्ता, तहसीलदार राजेश पाटीदार, कुक्षी थाना प्रभारी सीबी सिंह आदि साथ थे।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें