Naidunia
    Wednesday, July 26, 2017
    PreviousNext

    डीयू प्रोफेसर ने मां के साथ महाकाल मंदिर का फोटा शेयर किया, लगा दंगा भड़काने का केस

    Published: Tue, 18 Jul 2017 09:27 AM (IST) | Updated: Tue, 18 Jul 2017 09:59 AM (IST)
    By: Editorial Team
    rakesh sinha ujjain pic 18 07 2017

    नई दिल्ली/ कोलकाता। आरएसएस विचारक और डीयू प्रोफेसर राकेश सिन्हा पर पश्चिम बंगाल पुलिस ने शांति भंग करने और दंगा भड़काने के आरोप में एफआईआर दर्ज कर गैर जमानती वारंट जारी किया है। सिन्हा पर कोलकाता के सेक्सपियर सरानी थाने में 12 जुलाई को यह केस दर्ज किया गया। आरोप है कि सिन्हा ने हिंसाग्रस्त राज्य में सोशल मीडिया के जरिए सांप्रदायिक घृणा फैलाने की कोशिश की। शिकायत में एक विशेष पोस्ट को भी इसका आधार बताया गया है, जिसमें सिन्हा 9 जुलाई को अपनी मां के साथ उज्जैन स्थित महाकाल मंदिर में पूजा कर रहे हैं।

    सिन्हा के वकील और कोलकाता निवासी ब्रजेश झा के मुताबिक, किसी मनोज कुमार ने सिन्हा के खिलाफ शिकायत की थी। उसने इस पोस्ट को उकसाने वाली बताया, जिससे सांप्रदायिक तनाव भड़का और दंगे फैले। सिन्हा के मुताबिक, मैं तो पिछले दो साल से पश्चिम बंगाल ही नहीं गया। मैंने ट्विटर पर कोई विवादित फोटो नहीं डाली है। बीते कई दिनों में महज तीन फोटो डाली हैं।

    इसमें एक तस्वीर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से पुरस्कार ग्रहण करते वक्त, दूसरी पीएम मोदी के साथ बुक रिलीज कार्यक्रम की और तीसरी उज्जैन के महाकाल की है।

    महाकाल की फोटो लगाने से कैसे भड़क सकता है दंगा

    सिन्हा का कहना है कि उज्जैन के महाकाल की फोटो शेयर करने से देश में दंगा नहीं भड़क सकता है। यदि इससे पश्चिम बंगाल में दंगा भड़कता है तो मैं कुछ नहीं कह सकता। सिन्हा ने बताया कि वह अग्रिम जमानत लेने के लिए कानूनी राय ले रहे हैं। ममता सरकार के इस कदम को उन्होंने संघ की आवाज दबाने की कोशिश करार दिया है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी