Naidunia
    Monday, November 20, 2017
    PreviousNext

    जीएसटी में वार्षिक विवरणी प्रस्तुत करने की आखिरी तारीख 31 दिसंबर

    Published: Sat, 22 Apr 2017 03:58 AM (IST) | Updated: Sat, 22 Apr 2017 03:58 AM (IST)
    By: Editorial Team

    इंदौर। नईदुनिया प्रतिनिधि

    नए कर कानून जीएसटी (गुड्स एंड सर्विस टैक्स) में कर विवरणी प्रस्तुत करने की प्रक्रिया से लेकर वार्षिक रिटर्न की मियाद तक में बदलाव होगा। शुक्रवार से शुरू हुई कमर्शियल टैक्स प्रैक्टिशनर्स एसोसिएशन की तीन दिनी जीएसटी वर्कशॉप में प्रदेशभर के टैक्स प्रैक्टिशनर्स को नए कानून की बारीकियों से अवगत कराया जा रहा है।

    वर्कशॉप के पहले दिन वाणिज्यिककर विभाग के अधिकारी और मास्टर ट्रेनर हरीश जैन ने व्यवसायी विवरण पत्र की प्रक्रिया के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जीएसटी के तहत एक विवरणी होगी जिसमें तीन तरह के करों का विवरण प्रस्तुत करना होगा। यह विवरणी हर महीने प्रस्तुत करना होगी। वस्तुओं और सेवाओं की सप्लाय व प्राप्ति की जानकारी एक ही विवरणी में दर्ज होगी। जीएसटी में वार्षिक विवरणी प्रस्तुत करने की आखिरी तारीख 31 दिसंबर होगी। कम्पोजिशन की सुविधा लेने वाले व्यापारी हर माह के बजाय हर तीसरे माह विवरणी पेश कर सकेंगे। नए कर कानून में विवरणी देर से दाखिल करने पर 100 रुपए प्रतिदिन से 5 हजार रुपए तक का अधिकतम जुर्माना देना होगा। खास बात होगी कि इसमें सारे रिटर्न सिर्फ ऑनलाइन ही दाखिल किए जा सकेंगे। एसोसिएशन के सचिव केदार हेड़ा के मुताबिक वर्कशॉप में प्रदेश के ढाई सौ कर सलाहकार भाग ले रहे हैं। वर्कशॉप में टैक्स लॉ बार एसोसिएशन भी सहभागी है। होटल सूर्या में आयोजित वर्कशॉप में लॉ बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अश्विन लखोटिया ने भी नए कर कानून के बारे में जानकारी दी। वर्कशॉप के तीनों दिन जीएसटी के अलग-अलग प्रावधानों को विस्तार से बताया जाएगा।

    और जानें :  # e
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें