Naidunia
    Monday, April 24, 2017
    PreviousNext

    अमेरिका-ऑस्ट्रेलिया समेत आठ देशों के वैज्ञानिक करेंगे मौसम में बदलाव पर मंथन

    Published: Thu, 16 Feb 2017 04:03 AM (IST) | Updated: Fri, 17 Feb 2017 01:00 PM (IST)
    By: Editorial Team

    इंदौर, नगर प्रतिनिधि। तापमान बढ़ने से मौसम में हो रहे बदलाव और पर्यावरण असंतुलन से प्राणियों, पेड़-पौधों आदि पर दिख रहे दुष्प्रभाव पर गुरुवार से आठ देशों के वैज्ञानिक मंथन करेंगे। इसके लिए यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ लाइफ साइंस विभाग में तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है।

    स्कूल ऑफ लाइफ साइंस, आदर्श इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड साइंस और जियोलॉजिकल सोसायटी द्वारा संगोष्ठी रखी है। आयोजक डॉ. शैलेंद्र शर्मा ने बताया कि 'ईको सिस्टम एंड रिपॉन्स क्लाइमेंट चेंज' विषय पर होने वाली संगोष्ठी में जर्मनी, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, भूटान, नेपाल, ऑस्ट्रिया, यमन, श्रीलंका के वैज्ञानिक शामिल होंगे। पर्यावरण के अलग-अलग मुद्दों पर वैज्ञानिक रिसर्च पेपर प्रस्तुत करेंगे। लगभग 500 विद्यार्थी, रिसर्च स्कॉलर, वैज्ञानिक संगोष्ठी में रहेंगे।

    पर्यावरण मंत्रालय के सामने रखेंगे सुझाव

    संयोजक डॉ. आनंद कर ने बताया पर्यावरण में बदलाव के पीछे वायु प्रदूषण माना जा रहा है। इस कारण गर्मी बढ़ने लगी है। अब ग्लोबल वार्मिंग पर विश्व स्तर पर शोध शुरू हो चुका है। संगोष्ठी में अलग-अलग बिंदुओं मिलने वाले सुझाव पर्यावरण मंत्रालय के सामने रखे जाएंगे।

    16 फरवरी को संगोष्ठी का शुभारंभ किया जाएगा। मुख्य अतिथि बायोडायवर्सिटी बोर्ड के सचिव डॉ. एसएन मूर्ति, विशेष अतिथि वैज्ञानिक डॉ. यू ब्रेक (जर्मनी) होंगे। इस दौरान नेपाल विवि के डॉ. सुबोध शर्मा, जियोलॉजिकल सोसायटी ऑफ इंडिया के अध्यक्ष डॉ. आरएन पांडे और कुलपति डॉ. नरेंद्र धाकड़ आदि भी होंगे।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी