Naidunia
    Friday, June 23, 2017
    PreviousNext

    चेकिंग से बचने बिना हेलमेट पल्सर सवार भागे, टक्कर मारी, एक की मौत

    Published: Mon, 19 Jun 2017 08:22 PM (IST) | Updated: Mon, 19 Jun 2017 08:25 PM (IST)
    By: Editorial Team

    ग्वालियर। पल्सर पर बिना हेलमेट सवार युवकों ने पुलिस चेकिंग से बचने गाड़ी रॉन्ग साइड दौड़ा दी। भागने की जल्दबाजी में पल्सर सवारों ने रास्ता पार कर रहे युवक को टक्कर मार दी। हादसे के बाद युवक बाइक छोड़कर फरार हो गए। घायल को राहगीरों ने अस्पताल पहुंचाया। जहां सिर और पेट में चोट लगने से घायल ने ट्रॉमा सेंटर में दम तोड़ दिया। घटना रविवार रात 9 बजे चेतकपुरी चेकिंग प्वॉइंट के पास की है।

    मृतक जेएएच का सस्पेंड कर्मचारी था। वह जेएएच के मेडिकल स्टोर में पदस्थ था। इस मामले में पुलिस का कहना है कि मृतक उसी बाइक पर युवकों के साथ सवार था। गाड़ी फिसली और वह घायल हो गया। अस्पताल में सकी मौत हो गई।

    जयारोग्य अस्पताल परिसर में रहने वाले 47 वर्षीय जगदीश राजपूत जेएएच के कर्मचारी थे। उनकी ड्यूटी जेएएच के मेडिकल स्टोर पर थी। कुछ समय पहले उन पर किसी महिला ने दुष्कर्म का आरोप लगाया था। इसके बाद उन्हें सस्पेंड कर दिया गया था।

    सस्पेंड होने के बाद उन्होंने परिवार के जीवन यापन के लिए चेतकपुरी के पास किसी सीए के ऑफिस में काम शुरू कर दिया था। रविवार रात 9 बजे वह ड्यूटी से घर के लिए लौट रहे थे। जब वह सड़क क्रॉस कर रहे थे, तभी पल्सर सवार तीन युवक चेतकपुरी पर पुलिस का चेकिंग प्वॉइंट देखकर रॉन्ग साइड भागे।

    चेकिंग प्वाइंट देखकर भाग रहे युवकों की पल्सर ने जगदीश को टक्कर मारी, जिससे वह घायल हो गए। घटना के बाद चालक पल्सर वहीं छोड़कर फरार हो गए। घटना के बाद सड़क पर रुके राहगीरों ने घायल को जेएएच पहुंचाया। जहां इलाज के दौरान घायल ने दम तोड़ दिया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस और मृतक के परिजन मौके पर पहुंचे। पुलिस ने शव को निगरानी में लेकर मामला दर्ज कर लिया है।

    पुलिस ने यह बताया घटनाक्रम

    इस मामले में पुलिस थाना झांसी रोड के अनुसार मृतक जगदीश राजपूत खुद भी पल्सर पर सवार थे। गाड़ी भगाने पर वह पलट गई। इसमें जगदीश घायल हुए। उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया और उनकी मौत हो गई। पल्सर पर भिंड जिले का रजिस्ट्रेशन नंबर डला हुआ है। पुलिस बाइक मालिक की तलाश कर रही है। मृतक के दो बेटे-दो बेटियां हैं। इनकी जिम्मेदारी उनके कंधे पर थी।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी