Naidunia
    Saturday, November 25, 2017
    PreviousNext

    -कलेक्टर ने एसएडीओ को 15 दिन में 300 नमूने भेजने के दिए निर्देश

    Published: Wed, 15 Nov 2017 08:15 PM (IST) | Updated: Wed, 15 Nov 2017 08:15 PM (IST)
    By: Editorial Team

    पेज 15 के लिए

    होशंगाबाद । जिले में मिट्टी परीक्षण की सुविधा होने के बावजूद प्रयोग शालाओं में पर्याप्त नमूने परीक्षण के लिए नहीं भेजे जा रहे हैं। सभी ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी परीक्षण के लिए मिट्टी के 300 नमूने 15 दिन में अनिवार्य रूप से प्रस्तुत करें। समय सीमा में लक्ष्य की पूर्ति न करने वालों की नौकरी सुरक्षित नहीं रहेगी। किसान को जिस समय सबसे अधिक आवश्यकता है। उस समय यदि कृषि विभाग के अधिकारियों एवं किसान मित्रों ने उनका साथ नहीं दिया। तो यह अक्षम्य अपराध होगा। यह बात कलेक्टर अविनाश लवानिया ने जिला स्तरीय रबी इंटरफेस प्रशिक्षण कार्यशाला में कही। कार्य शाला कृषक प्रशिक्षण केंद्र पवारखेड़ा में आयोजित की गई।

    कार्यशाला में कलेक्टर ने कहा कि सभी किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत अपनी फसल का अनिवार्य रूप से बीमा कराए। किसी भी तरह की प्राकृतिक आपदा होने पर नाम मात्र के प्रीमियम पर बीमा लाभ मिलेगा। यदि बैंक में किसी एक फसल के लिए प्रीमियम दे दिया गया है। तथा किसान ने फसल में परिवर्तन कर लिया है। तो आवेदन पत्र देकर बीमा मे बोई गई फसल के अनुसार परिवर्तन कराए। इसके लिए सभी बैंकों को निर्देश दे दिए गए है। उपसंचालक कृषि जितेंद्र सिंह ने कहा कि किसानों तक खेती की नई तकनीक पहुंचाने के लिए लगातार प्रशिक्षण आयोजित किए जा रहे हैं। इस वर्ष 39 हजार 500 मिट्टी परीक्षण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिले में चना प्रदर्शन का लक्ष्य पर्याप्त प्राप्त हुआ है। जिला परियोजना प्रबंधक आत्मा एमएल दिलबारिया ने कहा कि मिट्टी परीक्षण के सर्वाधिक नमूने लाने वाले ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारियों को गणतंत्र दिवस में पुरुस्कृत किया जाएगा। कार्यशाला में प्राचार्य कृषि महाविद्यालय तथा कृषि विज्ञान कॉलेज उन्नात खेती की जानकारी दी। कार्यशाला में ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी किसान मित्र तथा किसान, दीदी शामिल रहीं।

    0000000000000000

    पेज 15 के लिए

    बसों के परमिट के लिए शिविर आज

    होशंगाबाद । बसों के अस्थाई परमिट जारी करने के लिए क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय होशंगाबाद में 16 नवंबर को दोपहर 12 बजे से शिविर लगाया जा रहा है। इस संबंध में आरटीओ मनोज तेनगुरिया ने बताया कि जिन बस मालिकों ने 14 नवंबर तक परमिट के लिए आवेदन पत्र दिए हैं। उनकी सुनवाई शिविर में की जाएगी। यदि किसी वाहन मालिक को परमिट के संबंध में आपत्ति हो तो वह शिविर में उपस्थित होकर अपना पक्ष रख सकता है।

    00000000

    और जानें :  # Hoshangabad news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें