Naidunia
    Thursday, July 27, 2017
    PreviousNext

    जिस कर्ज में पिता ने खाया था जहर, उसी से परेशान होकर बेटे ने भी दी जान

    Published: Mon, 17 Jul 2017 07:49 PM (IST) | Updated: Tue, 18 Jul 2017 09:58 AM (IST)
    By: Editorial Team
    sucide 17 07 2017

    होशंगाबाद। बुधनी के कुसुमखेड़ा गांव के रहने वाले एक सिपाही बृजेश सोलंकी ने होशंगाबाद स्थित अपने सरकारी आवास में सोमवार दोपहर 2 बजे जहर खाकर आत्महत्या कर ली। परिजनों का आरोप है कि आरक्षक अपने मृतक पिता गुलाब सिंह के कर्ज को लेकर परेशान था।

    इस मामले में यह भी सामने आया है कि मृतक सिपाही के पिता ने भी करीब साढ़े सात माह पहले 1 जनवरी को जहर खाकर आत्महत्या कर ली थी। इधर यह भी बताया जा रहा है कि मृतक सिपाही शराब पीने का आदी था। पति की आत्महत्या के बाद उसकी पत्नी सदमे में आ गई और उसे अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। पुलिस का कहना है कि अभी मौत के कारणों पर कुछ नहीं कहा जा सकता।

    पुलिस लाइन के गंगा ब्लाक में बृजेश पत्नी रजनी, 3 साल की बेटी और 14 माह के बेटे के साथ रहता था। बृजेश का सोमवार को साप्ताहिक अवकाश था। दोपहर 2 बजे बृजेश की अचानक तबीयत बिगड़ गई। पत्नी उसे पांडे अस्पताल लेकर पहुंची, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। इलाज करने वाले डाक्टरों ने लक्षण के आधार पर सल्फास खाने की बात कही है।

    15 लाख का है कर्ज

    मृतक के पास से फिलहाल कोई सुसाइड नोट तो नहीं मिला, लेकिन परिजन का आरोप है कि खेती-किसानी के लिए जो कर्ज लिया था, उसी से परेशान होकर बृजेश ने यह आत्मघाती कदम उठाया है। मृतक के बहनोई सोहन सिंह ने 15 लाख का कर्ज होने की बात बताई है। उन्होंने बताया बिजली कंपनी का 3 लाख का बिजली बिल का बकाया था। इसके अलावा आईसीआईसीआई बैंक होशंगाबाद का 6.65 लाख और बुधनी सोसायटी का करीब 5 लाख का कर्ज है।

    कुसुमखेड़ा में बृजेश के परिवार की गिनती संपन्न् किसानों में होती है। उसके पास 33 एकड़ खेतिहर जमीन है।पिता की मौत के बाद खेती का काम बृजेश का छोटा भाई नीतेश करता है। कुसुमखेड़ा से आए ग्रामीणों ने बताया परिवार में कोई कमी नहीं थी। बड़े पिता लक्ष्मीनारायण ने बताया कर्ज को लेकर दोनों भाई परेशान तो थे। पहले पिता ने और अब जवान बेटे ने आत्महत्या कर ली।

    रक्षित निरीक्षक जगदीश पाटील का कहना है कि मौत के कारणों का खुलासा तो जांच के बाद ही होगा। लेकिन यह सच है कि मृतक सिपाही बृजेश सोलंकी शराब पीने का आदी था। उन्होंने बताया कई बार इसकी शिकायत भी मिली थी, लेकिन हमने इसलिए कोई एक्शन नहीं लिया, क्योंकि ड्यूटी पर वह कभी नशे में नहीं मिला।

    आरक्षक बृजेश को सोमवार को जिला अस्पताल के पीएम हाउस में लाया गया, यहीं साढ़े सात माह पहले उसके पिता गुलाब सिंह सोलंकी का पीएम हुआ था। पिता ने 1 जनवरी को कुसुमखेड़ा स्थित घर में जहर खा लिया था। तब भी लाखों के कर्ज की बात सामने आई थी। बताया जा रहा है तीन-चार दिन पहले बकाया बिजली बिल का नोटिस मिलने के बाद से ब्रजेश तनाव में था।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी