Naidunia
    Monday, April 24, 2017
    PreviousNext

    पत्नी के जरिए कमाना चाहता था 25 लाख, खेल ही बदल गया...

    Published: Thu, 16 Feb 2017 02:26 AM (IST) | Updated: Fri, 17 Feb 2017 08:44 PM (IST)
    By: Editorial Team
    insurance 2017217 204430 16 02 2017

    जबलपुर। पति पर 10 से 15 लाख रुपए का कर्ज हो गया था। कर्जदार आए दिन उसे परेशान कर रहे थे। कर्जा चुकाने के लिए उसने एक साजिश रची थी, जिसमें उसका इंश्योरेंस करा रहे थे। इंश्योरेंस में साफ लिखा था कि यदि तीन माह के अंदर पत्नी की हादसे में मौत होती है, तो 25 लाख रुपए मिलेंगे। पति ने उसे यह बात बताई, लेकिन उसने इंकार कर दिया। इस बात से नाराज होकर पति ने उसे धमकाना शुरू कर दिया।

    दबाव में आकर वह इस बात के लिए राजी हो गई। लेकिन पति रुपए की कमी के कारण इंश्योरेंस नहीं करा पाया। जिससे उसकी जान बच सकी। यदि उसका इंश्योरेंस हो जाता, तो पति उसके साथ कोई घटना को अंजाम दे सकता था। यह आरोप लगाते हुए अधारताल धनी की कुटिया निवासी नीलम पति सचिन मानेकर ने लगाए हैं। इस मामले की शिकायत नीलम और उसकी बेटी शालिनी ने मंगलवार को एसपी एमएस सिकरवार से की थी।

    ढाई साल पहले छोड़ दिया

    सचिन ने कर्जा कर लिया था वह जीसीएसएस लिमिटेड कंपनी में पदस्थ था। कर्जदारों से परेशान होकर उसने पुणे ट्रांसफर ले लिया। इसके बाद वहां पर उसने एक युवती से शादी रचा ली।

    आयुर्वेदिक दवाखाने की दुकान

    सचिन ने पुणे में ही आयुर्वेदिक दवाओं का काम शुरू कर दिया। इसके बाद उसने एक दुकान से दवाओं का व्यापार करता है।

    बिना तलाक दिए कर ली शादी

    सचिन ने नीलम को दूसरी शादी करने के पहले कोई जानकारी नहीं दी थी। नीलम रसल चौक स्थित कोऑपरेटिव सोसायटी बैंक में असिस्टेंट मैनेजर के पद पर पदस्थ है। लगभग 16 साल पहले इन दोनों ने प्रेम विवाह किया था। नीलम भी अपने परिजन को सचिन के लिए छोड़कर आई थी। लेकिन उसने अपने बच्चों और नीलम के बारे में बिना कुछ सोचे दूसरा विवाह कर लिया। कानून के मुताबिक पहली पत्नी को तलाक दिए बगैर दूसरा विवाह नहीं किया जाता। सचिन ने अपनी पत्नी और बच्चों के साथ धोखाधड़ी की है।

    10 फरवरी को थी पेशी

    सचिन से खाना खर्चा के लिए उसकी पत्नी नीलम ने न्यायालय की शरण ली थी। जिसकी पेशी 10 फरवरी को थी। वह 6 फरवरी को शहर आया और नीलम के रसल चौक स्थित कोआपरेटिव सोसायटी बैंक में जाकर उसकी जानकारी अधिकारी से ली। इसके बाद अधारताल स्थित घर पहुंचा और अपनी बेटी शालिनी और दिव्या को बाहर बुलाया। जैसे ही बेटियां बाहर आई तभी सचिन की बहन ने शालिनी का हाथ पकड़कर उसे साथ में ले जाने लगी। यह देखकर नीलम ने विरोध किया, तो उसके साथ मारपीट कर दी। बीच बचाव में शालिनी के सिर में बेस बॉल के डंडे से हमला कर दिया। सचिन के साथ उसकी बहन, पिता और अन्य 15-20 लोग शामिल थे।

    पहले जाकर थाने में लिखाई रिपोर्ट

    शालिनी का आरोप है कि उसके पिता ने मारपीट करने के बाद थाने पहुंचकर पहले रिपोर्ट कर दी। जिससे वह बच सके। उन्होंने हाथ में चाकू मारा और सभी को झूठे आरोप में फंसा दिया। इसके बाद वे लोग भी थाने पहुंचे और मारपीट की शिकायत की। पुलिस ने दोनों पक्षों की शिकायत पर मामला दर्ज किया।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी