Naidunia
    Sunday, May 28, 2017
    PreviousNext

    बीएड की अगली परीक्षा सेमेस्टर से, फीस भी डबल

    Published: Tue, 03 Mar 2015 04:00 AM (IST) | Updated: Tue, 03 Mar 2015 04:00 AM (IST)
    By: Editorial Team

    इंदौर। बीएड कोर्स में नए सत्र के लिए प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो गई है। इस बीच नए सत्र से यूनिवर्सिटी ने बीएड कोर्स में सेमेस्टर सिस्टम लागू करने का ऐलान कर दिया है। नया सिस्टम न केवल कोर्स की अवधि बढ़ा रहा है बल्कि फीस भी दोगुनी कर रहा है।

    नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजुकेशन (एनसीटीई) के निर्देश पर इस बार बीएड के कोर्स में तमाम बदलाव किए गए हैं। यूनिवर्सिटी डिप्टी रजिस्ट्रार डॉ. अनिल शर्मा के मुताबिक उच्च शिक्षा विभाग और एनसीटीई के निर्देशानुसार यूनिवर्सिटी भी सिलेबस बदल रही है। नए सत्र की परीक्षाएं सेमेस्टर सिस्टम से होंगी। एक सत्र में दो सेमेस्टर होंगे। कोर्स की अवधि भी दो साल हो रही है। इससे नियमित कक्षाएं लगेंगी और छात्र को गहन अध्ययन का मौका मिलेगा। पुरानी व्यवस्था में पूरक लागू नहीं थी, लेकिन सेमेस्टर में एटीकेटी की प्रणाली लागू हो जाएगी।

    चार परीक्षाएं

    बदलाव के बाद बीएड विद्यार्थियों पर परीक्षा का बोझ चार गुना और फीस का दोगुना हो रहा है। कॉलेज संचालक कोर्स की अवधि बढ़ाने का विरोध कर रहे थे। एनसीटीई ने कोर्स की अवधि बढ़ा दी तो कॉलेज संचालकों ने फीस भी दोगुनी कर दी। अब तक औसतन कॉलेज बीएड कोर्स के 25 से 30 हजार ले रहे थे, लेकिन खर्च बढ़ने का हवाला देकर कॉलेजों ने फीस भी दोगुना कर दी है। वार्षिक पद्धति में अब तक कोर्स की परीक्षा सिर्फ एक बार होती थी, लेकिन अब चार सेमेस्टर परीक्षा होंगी।

    एक कॉलेज का रिजल्ट

    एमएड के कॉलेज इंदौर महाविद्यालय ने यूनिवर्सिटी के सामने अपना मान्यता पत्र पेश किया। साथ ही अगले सत्र की परीक्षा की मांग भी रखी। मान्यता नहीं होने कारण अब तक यूनिवर्सिटी ने सभी 13 कॉलेजों के रिजल्ट रोक रखे हैं।

    और जानें :  # BEd
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी