Naidunia
    Friday, November 24, 2017
    PreviousNext

    12वीं बोर्ड की परीक्षा में सीबीएसई ने स्टूडेंट्स को दी ये बड़ी राहत

    Published: Wed, 15 Nov 2017 11:38 AM (IST) | Updated: Wed, 15 Nov 2017 05:15 PM (IST)
    By: Editorial Team
    cbse student exam 12th 15 11 2017

    इंदौर, नईदुनिया रिपोर्टर। केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने इस बार रिजल्ट में सुधार के लिए और दोबारा 12वीं बोर्ड की परीक्षा में शामिल होने वाले स्टूडेंट्स को प्रैक्टिकल परीक्षा से राहत दी है। पिछली परीक्षा में जो स्टूडेंट्स प्रैक्टिकल में पास हुए थे, वे इस बार प्रैक्टिकल में शामिल नहीं होंगे।

    वे चाहे इंप्रूवमेंट के लिए परीक्षा फॉर्म भर रहे हों या पिछली बार फेल होने कारण। पिछले वर्ष की प्रैक्टिकल परीक्षा में मिले अंक ही इस बार भी मान्य होंगे। बोर्ड ने पिछले दिनों ही इस संबंध में अधिसूचना जारी की थी।अधिसूचना के अनुसार प्रैक्टिकल परीक्षा का प्राप्तांक अगले दो वर्ष तक मान्य रहेगा, लेकिन पिछले वर्ष प्रैक्टिकल में फेल विद्यार्थियों को प्रैक्टिकल व थ्योरी दोनों ही परीक्षा में शामिल होना होगा।

    इसके अलावा पिछली बार स्वास्थ्य कारणों से प्रैक्टिकल में उपस्थित नहीं हो पाने वाले स्टूडेंट्स भी प्रैक्टिकल के साथ थ्योरी परीक्षा के लिए आवेदन करेंगे। प्राइवेट स्टूडेंट्स को अनुमति नहीं सीबीएसई द्वारा स्पष्ट किया गया है कि परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले प्राइवेट स्टूडेंट्स फिजिक्स व केमेस्ट्री जैसे उन विषयों का चयन नहीं कर सकेंगे, जिसमें प्रैक्टिकल हो। ऐसे में उन्हें वैसे विषयों का चयन करना होगा, जिसमें प्रोजेक्ट वर्क शामिल हो। प्रोजेक्ट का मूल्यांकन परीक्षा केन्द्र अधीक्षक द्वारा किया जाएगा।

    अब लेट फीस लगेगी

    इंप्रूवमेंट एग्जाम के लिए स्टूडेंट्स बिना लेट फीस के 7 नवंबर तक ही आवेदन कर सकते थे। तय तिथि तक उन्हें 650 रुपए शुल्क जमा करना था, लेकिन अब उन्हें इंप्रूवमेंट एग्जाम के लिए विलंब शुल्क देना होगा। बोर्ड की अधिसूचना के अनुसार इंप्रूवमेंट के लिए परीक्षा में शामिल होने वाले विद्यार्थियों को बोर्ड संबंधित विषय की अलग मार्कशीट उपलब्ध कराएगा। पिछली परीक्षा की तुलना में वर्ष 2018 की परीक्षा में संबंधित विषय का प्राप्तांक अधिक हो या कम, दोनों ही परिस्थितियों में अलग मार्कशीट मिलेगी।

    इसके अलावा अन्य विषयों के लिए वे पिछली परीक्षा की मार्कशीट भी उपयोग में लाएंगे। विद्यार्थियों को रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरने में सावधानी बरतनी होगी। बोर्ड के निर्देशों के अनुसार रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरने में यदि कोई त्रुटि रह गई और स्कूल की ओर से लिस्ट ऑफ कैंडिडेट (एलओसी) जमा कर दिया गया तो सुधार के लिए एक हजार रुपए फाइन देना होगा।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें