Naidunia
    Tuesday, October 17, 2017
    PreviousNext

    बचपन में भंगार चुराने वाला बन गया मास्टरमाइंड

    Published: Tue, 20 Jun 2017 03:58 AM (IST) | Updated: Tue, 20 Jun 2017 03:58 AM (IST)
    By: Editorial Team

    इंदौर। नईदुनिया प्रतिनिधि

    क्राइम ब्रांच ने खुड़ैल पुलिस की मदद से चोर गिरोह को पकड़ा है। गिरोह का मास्टरमाइंड बचपन में भंगार चुराता था। चोरी की आदत के कारण वह बड़ा अपराधी बन गया। उस पर 20 केस दर्ज हैं। दोस्तों की मदद से वह पहले गाड़ियां चुराता, फिर उनसे अनाज भरे बोरे चुराता था। पुलिस ने गिरोह के तीन सदस्यों को पकड़ा है।

    पुलिस के मुताबिक पकड़े गए आरोपियों का नाम मनीष चोपड़ा, नाना उर्फ काना उर्फ रेवसिंह और अर्जुन सिंह हैं। तीनों सिमरोल क्षेत्र के मेंडल के रहने वाले हैं। मनीष आदतन अपराधी है। वह बचपन में भंगार चुराता था। आरोपियों ने नकबजनी की 10 वारदात व देवास जिले की एक बोलेरो कार चोरी करने का खुलासा किया है। आरोपियों से दो बोलेरो, एक मारुति 800, टवेरा, बाइक चुराना कबूला। आरोपी चोरी किए गए वाहनों से खुड़ैल, भंवरकुआं, तेजाजी नगर, आजाद नगर और देवास सहित अन्य क्षेत्रों के गोदाम से अनाज के बोरे चुराते थे। गिरोह से एक बोलेरो, देवास की एक बोलेरो, मारुति 800, बाइक, सोयाबीन, गेहूं, खली, लहसुन व उड़द जब्त की है। अर्जुन व नाना जब नाबालिग थे, तब भी चोरी करते थे।

    नकली चाबी बनाने में एक्सपर्ट अपराधी

    मनीष नकली चाबी बनाने में एक्सपर्ट है। इनसे चाबियों का गुच्छा भी मिला। आरोपियों ने देवास जिले के कई गांव में किसानों को अनाज बेचे। यह चुराई गई गाड़ियों को वारदात के बाद लावारिस हालत में रास्ते पर छोड़ देते थे जिसके चलते गाड़ी मालिक को जब गाड़ी मिलती थी तो वह रिपोर्ट भी दर्ज नहीं करते थे।

    और जानें :  # crime
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें