Naidunia
    Sunday, September 24, 2017
    PreviousNext

    पापा ने बेल्ट से मारा... मम्मी ने बस से उतार दिया

    Published: Wed, 08 Feb 2017 04:03 AM (IST) | Updated: Wed, 08 Feb 2017 09:16 AM (IST)
    By: Editorial Team
    mother leave child indore 201728 91612 08 02 2017

    इंदौर, नगर प्रतिनिधि। साढ़े तीन साल का मासूम धीरज। चेहरे और पीठ पर जख्मों के गहरे निशान। अकसर उदास बैठा रोता रहता है। जब भी कोई जख्म के बारे में पूछने की कोशिश करता है तो उसके मुंह से एक ही बात निकलती है 'पापा ने बेल्ट से मारा... मम्मी ने छोड़ दिया' अपने ही माता-पिता की बर्बरता के शिकार इस मासूम की लावारिस होने की कहानी एक फूल की दुकान से शुरू हुई और अनाथालय तक पहुंच गई।

    दरअसल बीते मंगलवार को चिड़ियाघर के सामने स्थित फूल की दुकान पर एक महिला साढ़े तीन साल के बच्चे को यह बोलकर छोड़कर गई कि बस में सामान रह गया है दो मिनट में लेकर आती हूं। काफी देर तक महिला बच्चे को लेने के लिए नहीं लौटी।

    बच्चा रात तक फूल की दुकान चलाने वाली महिला के पास ही बैठा रहा। उसके चेहरे पर चोट के गंभीर निशान थे। तभी मंदिर में एक अधिकारी का आना हुआ। बच्चे की हालत देखकर वे उसे अपने घर ले गए। उन्होंने हफ्तेभर तक बच्चे की देखरेख की। इससे उसकी चोट के निशान भर गए।

    इस बीच वे रोज फूल की दुकान पर बच्चे के परिजन के बारे में जानकारी लेने जाते। आखिरकार अधिकारी ने बच्चे की जानकारी चाइल्ड लाइन को दी। चाइल्ड लाइन की मदद से बच्चा बाल कल्याण समिति पहुंचा। बाल कल्याण समिति की सदस्य डॉ. सुधा जैन ने उसे बाल गृह में रखने के आदेश दिए। फिलहाल बच्चे की स्थिति ठीक है।

    बच्चों के बीच भी अकेला महसूस कर रहा है मासूम

    धीरज बच्चों के बीच भी खुद को अकेला महसूस कर रहा है। वह बार-बार मां के लिए रोता है। मां का नाम रानू बताता है। पिता के बारे में पूछने पर घबरा जाता है। बताता है कि बेल्ट से मारते हैं। बातचीत में वह पिता के मिस्त्री का काम करने के भी संकेत दे रहा है। बता रहा है कि मम्मी ने बस से उतार दिया।

    बाल गृह में शिफ्ट किया है

    माता-पिता की तलाश की जा रही है। बच्चा घबराया हुआ है, लेकिन उसकी स्थिति में सुधार है। डॉ. सुधा जैन, सदस्य, बाल कल्याण समिति

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें