Naidunia
    Thursday, November 23, 2017
    PreviousNext

    प्रदेश में प्लास्टिक के उपयोग पर लगेगी रोक - मुख्यमंत्री

    Published: Sun, 17 Sep 2017 05:34 PM (IST) | Updated: Sun, 17 Sep 2017 10:12 PM (IST)
    By: Editorial Team
    indore shivraj 2017917 221256 17 09 2017

    इंदौर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज स्वच्छता ही सेवा के उपलक्ष्य में ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में नगर निगम इंदौर के तत्वावधान में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण-2016 में इंदौर प्रथम स्थान पर आया है, जिसके लिये इंदौर की जनता बधाई की पात्र है और मध्यप्रदेश शासन के लिये भी यह बड़े गर्व की बात है। देश में स्वच्छता में नंबर वन आना आसान है, मगर देश में स्वच्छता के क्षेत्र में नंबर वन पर बने रहना कठिन है।

    सीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर पूरे देश में स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है, जिसके सकारात्मक परिणाम आये हैं। 2019 तक पूरे प्रदेश के सभी ग्रामों और शहरों को खुले में शौच से मुक्त करा दिया जायेगा।

    श्री चौहान ने कहा कि इंदौर की जनता ने स्वच्छता के क्षेत्र में जो अभियान चलाया वह काबिले तारीफ है।सर्वेक्षण-2016 में देश के 100 चयनित शहरों में से 22 शहर मध्यप्रदेश के हैं, जिसमें इंदौर प्रथम और भोपाल द्वितीय स्थान पर है। सागर, जबलपुर और पीथमपुर को भी प्रथम 100 में स्थान मिला है। स्वच्छता से समृद्धि आती है और ईश्वर भी प्रसन्न रहते हैं।

    श्री चौहान ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में शौचालय बन जाने से ही काम नहीं चलेगा, उसका उपयोग करना भी जरूरी है। इंदौर जिला ग्रामीण क्षेत्र प्रदेश में प्रथम और पूरे देश में दूसरा ऐसा जिला है जो खुले में शौच से मुक्त हुआ।

    उन्होंने कहा कि प्रदेश में प्लास्टिक की समस्या बनी हुई है, जिस पर प्रतिबंध लगाना जरूरी है। प्लास्टिक से सर्वाधिक कचरा फैलता है और प्लास्टिक जल्दी नष्ट भी नहीं होता है। प्लास्टिक के खाने से गायें भी मर रही है। इसलिये इस पर प्रतिबंध लगाना जरूरी है।

    इस अवसर पर महापौर मालिनी गौड़ ने कहा कि इंदौर को स्वच्छता सर्वेक्षण-2016 में प्रथम स्थान दिलाने में इंदौर की जनता और नगर निगम के कर्मचारियों का योगदान रहा है। स्वच्छता सर्वेक्षण के सभी बिन्दुओं पर हम खरे उतरे हैं। नवंबर 2016 से डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन से इंदौर में साफ-सफाई विशेष रूप से परिलक्षित हुई है। इस अभियान में विद्यार्थियों, शिक्षकों, व्यापारियों, अधिकारियों, कर्मचारियों, समाजसेवी संगठनों आदि का भरपूर सहयोग मिल रहा है। आने वाले समय में इंदौर शहर में विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जायेगा। साफ-सफाई के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ स्कूल, सर्वश्रेष्ठ कॉलेज, सर्वश्रेष्ठ मैरिज गार्डन, सर्वश्रेष्ठ हॉस्टल, सर्वश्रेष्ठ अस्पताल, सर्वश्रेष्ठ मॉल को पुरस्कृत किया जायेगा। इनमें आपस में प्रतियोगिता शुरू हो गई है।

    इस अवसर पर स्वच्छता के क्षेत्र में विशिष्ट योगदान के लिये समाजसेवियों, व्यापारी संगठनों और सरपंचों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में हाउसिंग बोर्ड के अध्यक्ष कृष्णमुरारी मोघे, इंदौर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष शंकर लालवानी, जिला पंचायत अध्यक्ष कविता पाटीदार, विधायकगण सर्वश्री महेन्द्र हार्डिया, राजेश सोनकर, सुदर्शन गुप्ता, सुश्री उषा ठाकुर, अतिरिक्त मुख्य सचिव राधेश्याम जुलानिया, कमिश्नर संजय दुबे, कलेक्टर श्री निशांत वरवड़े, डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र, नगर निगम आयुक्त मनीष सिंह आदि मौजूद थे।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें