Naidunia
    Friday, November 24, 2017
    PreviousNext

    बच्‍चा नहीं हो रहा था तो पति-पत्‍नी ने निकाला एक गंदा रास्‍ता

    Published: Mon, 13 Feb 2017 10:16 AM (IST) | Updated: Mon, 13 Feb 2017 11:31 AM (IST)
    By: Editorial Team
    woman or child 2017213 11312 13 02 2017माता-पिता के साथ बच्ची, जिसका अपहरण हुआ था।

    इंदौर, नगर प्रतिनिधि। आठ साल तक बच्चे नहीं होने पर नाराज पति ने उसे मायके छोड़ दिया था। पति के पास वापस जाने और उसे मनाने के लिए उसने ममेरे भाई के साथ मिलकर बच्ची का अपहरण किया। ममेरे भाई ने अपहरण में मदद के लिए दो लाख रुपए में उससे सौदा किया था और 20 हजार रुपए ले भी लिए थे।

    यह खुलासा किया शनिवार को बायपास पर कार से धक्का लगवाकर डेढ़ माह की बच्ची का अपहरण करने वाली आरोपी ने। कनाड़िया पुलिस के मुताबिक कार सवार दो महिलाओं ने एक युवक की मदद से मनीषा राठौर (24) की डेढ़ माह की बच्ची माही का अपहरण कर लिया था। पुलिस ने देर रात नाजिया (29) मोहसिन खान (22) को गिरफ्तार कर लिया।

    नाजिया ने बच्ची को हिना पैलेस कॉलोनी में मां रजिया के पास छिपा दिया था। पुलिस ने देर रात बच्ची को बरामद किया और रजिया को भी हिरासत में ले लिया। टीआई के मुताबिक नाजिया ने पूछताछ में बताया उसकी वर्ष 2008 में नगौर (राजस्थान) निवासी मो. रईस से शादी हुई थी। अब तक उसे बच्चा नहीं होने से अकसर नाराज रहने वाला पति 10 महीने पूर्व नाजिया को मायके छोड़ गया था। नाजिया ने मां के साथ अपहरण की साजिश रची और मोहसिन को शामिल किया।

    अपहरण से घर बसाने के लिए पिता ने लिया लोन

    एसआई के मुताबिक मोहसिन को सौदे के दो लाख रुपए में से बाकी रकम चुकाने के लिए नाजिया के पिता ने लोन लिया था। मोहसिन ने पहले देवास स्थित एमजी अस्पताल में उन महिलाओं की रेकी की, जो छोटे बच्चों का इलाज कराने आती थीं। शनिवार को वह नाजिया और रजिया को भी ले गया। कुछ देर तीनों अस्पताल परिसर में टहलते रहे। वे करीब एक घंटे मनीषा और उसकी बुआ सास लीला के आसपास मंडराते रहे।

    सुनसान इलाका देख रोकी कार

    मनीषा के मुताबिक उसे डेढ़ महीने पूर्व जुड़वां बच्चे (माही और कार्तिक) हुए थे। शनिवार सुबह बेटे महेंद्र (4) व बुआ सास के साथ जननी एक्सप्रेस से टीका लगवाने अस्पताल आई थी। दोनों महिलाओं ने बातों में उलझाया और कहा- वे भी कमलापुर जा रहे हैं और उन्हें कार से छोड़ देंगे। कार इंदौर की तरफ आई, तब युवक ने कहा बायपास से चल रहे हैं।

    अचानक सुनसान इलाके में कार बंद कर दी। उसने मुझे और बुआ को धक्का देने के लिए उतार दिया। महेंद्र को मैंने पकड़ लिया। बुआ कार्तिक को गोद में लिए थी। माही को पिछली सीट पर सुला दिया। धक्का लगाते ही कार स्टार्ट हो गई। नाजिया-रजिया तो कार में चढ़ गई और मैं गाड़ी पर चढ़ने लगी तो धक्का दे दिया।

    फुटेज, इंजन से पकड़ाए

    सूचना मिलते ही पुलिस ने टोलनाके पर सीसीटीवी कैमरे खंगाले। इसमें कार (एमपी 09 एचडी 5254) के फुटेज मिल गए। आरटीओ के रिकॉर्ड में कार शेरशाह सूरी नगर निवासी शहजाद के नाम पर रजिस्टर्ड थी। शहजाद ने बताया कार भतीजा मोहसिन लेकर गया था। तलाशी लेने पर खाली प्लॉट पर कार ढंकी मिल गई।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें