Naidunia
    Sunday, October 22, 2017
    PreviousNext

    वार्ड-71 में डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन शुरू

    Published: Mon, 14 Sep 2015 04:00 AM (IST) | Updated: Mon, 14 Sep 2015 04:00 AM (IST)
    By: Editorial Team

    इंदौर। नगर निगम वार्ड-71 से डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन की शुरुआत कर रहा है। सफल होने पर इसे शहर के सभी 85 वार्ड में लागू किया जाएगा। केंद्र सरकार ने स्मार्ट सिटी योजना बनाई है, जिसमें इंदौर भी शामिल हुआ है। इसमें सफाई का भी बिंदु है। इसीलिए हमने डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन की शुरुआत की है।

    ये बातें महापौर मालिनी गौड़ ने रविवार को उषानगर में डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन सिस्टम शुरू करते हुए कार्यक्रम में कही। उन्होंने कहा कि वार्ड में सफाई के लिए निगम 35 साइकिल रिक्शा दे रहा है। 30 गाड़ियां घर-घर से कचरा इकट्ठा करेंगी और पांच गाड़ियां स्पेयर में रहेंगी। हर गाड़ी पर दो कर्मचारी (एक महिला-एक पुरुष) रहेंगे। सफाई कर्मियों की सुरक्षा के लिए मास्क और टोपी के अलावा फावड़ा, तगाड़ी और झाड़ू जैसे संसाधन दिए गए हैं। वार्ड को दी गई तीन मैजिक गाड़ियां व्यावसायिक क्षेत्र से सुबह-शाम, बगीचों, बहुमंजिला इमारतों, सरकारी ऑफिस और धार्मिक स्थलों से कचरा उठाएंगी।

    हर घर से दो और दुकान से लेंगे तीन रुपए

    महापौर ने बताया कि नए सिस्टम के लिए हर घर से रोजाना दो और व्यावसायिक संस्थान से तीन रुपए का शुल्क लिया जाएगा। पहले घरों के लिए यह शुल्क एक और दुकानों के लिए दो रुपए रखने की बात हुई थी। एक बार सिस्टम शुरू होने के बाद लोगों से राशि ली जाएगी। महापौर ने कार्यक्रम के दौरान दुकानों के बाहर रखने के लिए दुकानदारों को डस्टबिन भी बांटे, जिनका उपयोग राहगीर भी कर सकेंगे।

    आज से लागू होगा सिस्टम

    - निगम ने वार्ड में नए सिस्टम की शुरुआत भले ही रविवार से की हो, लेकिन घर-घर कचरा संग्रहण की शुरुआत सोमवार से होगी।

    - पार्षद भरत पारख ने बताया कि यह वार्ड 50 हजार की जनसंख्या वाला है, जिसमें छोटे-बड़े 24 बगीचे, 11 धार्मिक स्थल, 66 मल्टी, तीन मुख्य मार्ग शामिल हैं।

    - योजना कार्यान्वयन के लिए वार्ड को 13 क्षेत्रों में बांटा गया है। हर सेक्टर में दो-दो साइकिल रिक्शा कचरा इकट्ठा करेंगी। छह जगहों पर घर-घर से लाया गया कचरा इकट्ठा करेंगे और इसे कॉम्पैक्टर से ट्रेंचिंग ग्राउंड भिजवाएंगे।

    चित्रकला स्पर्धा के विजेताओं को बांटे पुरस्कार

    इस अवसर पर पर्यावरण और साफ-सफाई विषय पर तीन समूह में चित्रकला स्पर्धा भी हुई। पहला समूह पहली से पांचवीं, दूसरा छठी से नौवीं और तीसरा 10वीं से 12वीं का था। अतिथियों ने पहले, दूसरे और तीसरे विजेता को पुरस्कृत किया।

    कार्यक्रम में विधायक महेंद्र हार्डिया, निगम सभापति अजय सिंह नरूका, एमआईसी सदस्य राजेंद्र राठौर, शंकर यादव, बलराम वर्मा, सुधीर देड़गे, निगमायुक्त मनीष सिंह के अलावा कई पार्षद मौजूद थे। अंत में सभी ने पेटलावद हादसे में मृत लोगों को श्रद्धांजलि दी।

    महिला ने कार्यक्रम के दौरान खुद पर डाला घासलेट

    उषानगर में कचरा कलेक्शन सिस्टम के कार्यक्रम के दौरान हेमलता पति वीरेंद्र गौर नाम की महिला कुर्सी पर खड़ी हुई और कहने लगी कुछ भी हो, लेकिन हमारा काम नहीं छीना जाना चाहिए। नहीं तो हमें नौकरी दो। जैसे ही लोगों का ध्यान उस पर गया, उसने हाथ में रखी बोतल का पूरा घासलेट खुद पर डाल लिया। वह आग लगाती, इससे पहले ही आसपास के लोगों ने उसे पकड़ा और आयोजन स्थल से बाहर किया। बाद में किसी तरह समझाइश के बाद महिला को वहां से हटाया गया। दरअसल, इस वार्ड में भी जागीरदारों का बोलबाला है और निगम के नए सिस्टम से उन्हें परेशानी हो रही है।

    और जानें :  # kachra collection
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें