Naidunia
    Wednesday, August 23, 2017
    PreviousNext

    बेहतर फिटनेस का कारगर नुस्खा बना 'मड योगा'

    Published: Fri, 16 Jun 2017 03:44 PM (IST) | Updated: Sat, 17 Jun 2017 02:12 PM (IST)
    By: Editorial Team
    mud yoga indore one 2017616 155018 16 06 2017

    इंदौर, नईदुनिया रिपोर्टर। किडनी, त्वचा, फेफड़े और आंतें... ये चारों अंग शरीर की सफाई करते हैं। मड लगाकर जब योगासन में बैठा जाता है तो सबसे पहले इन चारों अंगों की सफाई होती है। जिससे इनकी कार्यक्षमता बढ़ती है और शरीर स्वस्थ होता है। इस वैज्ञानिक सच्चाई के बारे में जैसे-जैसे लोगों को पता चल रहा है, मड योगा का क्रेज बढ़ता जा रहा है।

    हमारा शरीर पंचतत्वों से बना है। इन पांच तत्वों में से एक मिट्टी यानी मड है। मड का यूज बॉडी के टॉक्सिंस को बाहर करने के लिए देश में लंबे अरसे से किया जा रहा है। अब इसी सिद्धांत के आधार पर शहर के योग केंद्रों में योग और मड थैरेपी के कॉम्बिनेशन से मड योगा कराया जा रहा है। जिसमें पार्टिसिपेंट्स को मड लगाकर योगासन कराया जाता है।

    काम करती है मिट्टी की ग्रेविटी

    प्राकृतिक चिकित्सक डॉ. सोहनलाल सिंघवी के मुताबिक नेचरोपैथी में मड का इस्तेमाल लंबे समय से हो रहा है। दरअसल मिट्टी में गुरुत्वाकर्षण की शक्ति होती है। जिसके चलते ये शीतलता प्रदान करने के साथ-साथ शरीर का मेटाबोलिजम सिस्टम भी सही करती है। जिससे रेजिस्टेंस पॉवर बढ़ता है और पाचन शक्ति भी मजबूत होती है। इसलिए आजकल योग में इसका प्रमुखता से उपयोग किया जाने लगा है।

    स्ट्रेचिंग के बाद मड लेपन

    मड और योग के कॉम्बिनेशन में बहुत अच्छे रिजल्ट मिलते हैं। योगाचार्य ओमानंद कहते हैं कि इससे शरीर का तापमान सही रहता है। सबसे पहले सामान्य योग करते हैं। इससे बॉडी की स्ट्रेचिंग होती है। वहीं स्ट्रेचिंग से हीट बाहर आती है। इसके बाद मड योग कराया जाता है। इसमें बॉडी के अधिकांश हिस्से पर मड का लेपन किया जाता है। ये एक बेहद रुचिकर प्रक्रिया है। जिसका पार्टिसिपेंट भरपूर लुत्फ उठाता है। इसे जितनी ज्यादा देर तक शरीर पर लगा रहने दिया जाता है, फायदा उतना ज्यादा होता है।

    सही अलाइनमेंट से बढ़ती है फ्लेक्जिबिलिटी

    इसके अलावा अलाइन्मेंट योगा भी इन दिनों काफी पापुलर है। इसमें प्रॉप्स का यूज करके सही योगासन किया जा रहा है। ये योग करते समय इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि योग के विभिन्ना आसनों को सही तरीके से किया जाए। इसके लिए अलाइन्मेंट योग बेस्ट ऑप्शन है। डॉ. एमएस होरा कहते हैं कि अलाइन्मेंट योग में प्रॉप्स का यूज करके भी योग किया जाता है। प्रॉप्स के सपोर्ट से सही पोजीशन में योग करने में मदद मिलती है। ऐसे में किसी भी तरह के साइड इफेक्ट की संभावना कम हो जाती है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें