Naidunia
    Tuesday, November 21, 2017
    PreviousNext

    थाइराइड की समस्या से बचने के लिए ऑफिस में भी कर सकते हैं ब्रह्ममुद्रा

    Published: Wed, 13 Sep 2017 12:29 PM (IST) | Updated: Wed, 13 Sep 2017 09:14 PM (IST)
    By: Editorial Team
    yoga workshop indore mp 13 09 2017

    इंदौर, नईदुनिया रिपोर्टर। यदि आपका अच्छी भूख के बावजूद भी वजन कम हो रहा है या सामान्य खुराक के बावजूद भी वजन बढ़ रहा है, गर्मी ज्यादा लगना, घबराहट, बाल झड़ना या कब्ज की समस्या लंबे वक्त तक रहे तो इसकी जांच तुरंत कराएं। हो सकता है कि आप थाइराइड की चपेट में हों। थाइराइड एक एंडोक्राइन ग्लैंड है जो कि शरीर के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। ये हार्मोंस मेटाबॉलिज्म में मददगार होती है। थाइराइड की समस्या से निजात पाने के लिए योग एक कारगर तरीका है और कुछ आसनों की मदद से इस रोग से बचा जा सकता है।

    थाइराइड से संबंधित यह जानकारी देने के लिए शहर में एक सेमिनार आयोजित हुआ। इस सेमिनार में डॉ. प्रकाश मारू ने थाइराइड ग्लैंड के बारे में जानकारियां साझा की साथ ही योग विशेषज्ञ बरूण कुशवाह ने योग-प्राणायाम के जरिए इससे बचने व इस समस्या से छुटकारा पाने के उपाय बताए। संस्था रिदमिक पावर योग द्वारा शहर में थाइराइड पर सेमिनार और योग प्रशिक्षण दिया गया। इसमें डॉ.मारू ने बताया कि थकान, चेहरे की सूजन या मासिक धर्म की समस्या को भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।

    बरूण कुशवाह ने कहा कि थाइराइड से बचने के लिए योग सबसे कारगर तरीका है और ऑफिस में रहकर भी इसके आसन आदि किए जा सकते हैं। ग्रीवा संचालन, कपालभाति, उष्ट्रासन, मार्जरासन, मत्स्यासन, भुजंगासन, धनुरासन ऐसे आसन हैं जो कि गर्दन ही नहीं थाइराइड ग्रंथी के लिए बहुत बेहतर साबित होते हैं। कार्यक्रम में योग भी कराया गया।

    ऑफिस में भी कर सकते हैं ये आसन

    ब्रह्ममुद्रा- वज्रासन में बैठकर गर्दन को उपर-नीचे, दाए-बाएं, क्लॉक और एंटीक्लॉक वाइज घुमाएं। यदि वज्रासन में नहीं बैठ सकते तो कुर्सी पर बैठकर भी यह क्रिया कर सकते हैं।

    कंध संचालन- इसमें कंधों को क्लॉक और एंटीक्लॉक वाइज घुमाएं। इससे मस्तिष्क और गर्दन की ओर रक्त संचार अच्छे से होता है।

    उज्जयी प्राणायाम- जिव्हा को उपर की ओर मोड़ते हुए गले की तरफ लाएं। सिर को हल्का सा नीचे की ओर झुकाकर सांस लें। नाक से इस तरह सांस लें कि गला हल्का सा संकुचित हो। इससे हवा थाइराइड ग्रंथी से टकराकर नीचे जाती है और लाभ होता है।

    इन बातों का रखें ध्यान

    - खाने की तरह दिन में दो बार योग करें।

    - लेटकर टीवी नहीं देखें।

    - लेटकर लैपटॉप, मोबाइल न चलाएं।

    - यदि लंबे वक्त तक कंप्यूटर पर काम करते हैं तो दिन में तीन बार ब्रह्ममुद्रा करें।

    - जिन्हें थाइराइड है वे तकिया लागाकर न सोएं।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें