Naidunia
    Tuesday, September 26, 2017
    PreviousNext

    सूख गई जुझारी की बावड़ी

    Published: Fri, 19 May 2017 11:46 PM (IST) | Updated: Fri, 19 May 2017 11:46 PM (IST)
    By: Editorial Team

    फोटो...

    गोसलपुर। गरमी जैसे-जैसे अपना रौद्र रूप दिखा रही है ग्रामीण क्षेत्रों में जल संकट गहराता जा रहा है। इस साल की गरमी में गोसलपुर के जुझारी की ऐतिहासिक बावड़ी भी जल विहीन हो गई है। इस बावड़ी के सूख जाने से क्षेत्र के जलस्त्रातों में पानी की कमी महसूस की जाने लगी है। हालांकि बावड़ी के सूखने की वजह इसका उपेक्षित होना माना जा रहा है। कई वर्षों से इसकी सफाई नहीं की गई।

    ग्राम जुझारी की यह बावड़ी जल संरक्षण एवं पेयजल के लिए ऐतिहासिक मानी जाती थी। ग्रामीणों का कहना है कि पिछले दो वर्ष पूर्व तक यह बावड़ी सही थी लोग इसके पानी का उपयोग करते थे। भीषण गरमी में भी इस बावड़ी में पर्याप्त पानी रहता था। इससे गांव के हेंडपंप एवं घरों के बोर में पानी की कमी नहीं आती थी। इस बावड़ी को जबलपुर के ब्यौहार परिवार इस ग्राम वासियों की मांग पर हनुमानगढ़ी रामजानकी कुण्ड को वर्ष 2003 में दान में दे दी थी। जिसमें 17 डिस्मल भूमि भी शामिल है। उक्त संबंध में तत्कालीन सरपंच गनेशी बाई, वरिष्ठ नागरिक तथा पूर्व सरपंच नोखेलाल पटैल नेता रामसिंह पटैल ने बताया कि बावड़ी की संरक्षण एवं संवर्धन के लिए पुरातत्व विभाग द्वारा लगभग 2 लाख रुपए मरम्मत एवं रखरखाव के लिए खर्च किए गए थे। जिससे जल स्तर में कमी न आए। पुरानी धरोहर की सलामती पूरी तरह से बनी रहे। ग्राम के सरपंच राजकुमार पटैल, अशोक आदिवासी, बबलू तिवारी आदि बावली को सुरक्षित करने की मांग करते हुए लोगों से श्रमदान करने की अपील की है।

    बूंद-बूंद पानी को तरस रहे शारदा नगर के वाशिंदे

    बरेला। ग्राम पंचायत शारदा नगर रिछाई की जनता पानी की एक एक बूंद के लिए तरस रही है। तीन हजार की आबादी वाले लोगों की इस बस्ती में पानी का एक भी स्रोत जिन्दा नहीं है। स्थानीय नागरिक पंचम यादव, फूलचंद यादव का कहना है कि वे पानी के लिए दिन भर परेशान हो ते रहते हैं। यहां के लोग बरेला एवं देवरी से पानी ला रहे हैं। पानी की इस समस्या से निजात दिलाने के लिए पीएचई से लेकर सांसद, विधायक तक सभी से यहां के लोग गुहार लगा चुके हैं लेकिन आज तक इस समस्या से जूझना पड़ रहा है। पीएचई के अधिकारी बोर के लिए आज कल आज कल कह कर ग्राम पंचायत के लोगों के धैर्य की परीक्षा ले रहा हैं। सरपंच मंगो बाई बरकड़े का कहना है कि वह पानी की समस्या के लिए कईबार पीएचई को प्रस्ताव भेज चुकीं हैं।

    मझौली में विरोध प्रदर्शन 22 को

    फोटो....

    मझौली क्षेत्र में जल संकट को लेकर भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने विरोध करने का निर्णय लिया है। इस संबंध में शुक्रवार को बैठक आयोजित कर निर्णय लिया गया। पार्टी के कार्यकर्ता 22 मई को सुबह 10 बजे बाजार प्लाट नगर परिषद के सामने उपस्थित होकर प्रदर्शन करेंगे। मंडल अध्यक्ष भरत सिंह परिहार, नपा उपाध्यक्ष जितेन्द्र ताम्रकार, पार्षद विजय नेता, राजा भईया, महेन्द्र कोष्टा आदि ने पार्टी कार्यकर्ताओं से उपस्थिति का अनुरोध किया है।

    और जानें :  # jabalpur news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें