Naidunia
    Thursday, November 23, 2017
    PreviousNext

    प्रेमी को दूसरी महिला के संग देख प्रेमिका ने कर दिया ये हाल

    Published: Wed, 13 Sep 2017 10:00 PM (IST) | Updated: Thu, 14 Sep 2017 04:04 PM (IST)
    By: Editorial Team
    women in forest jbp 2017914 1647 13 09 2017

    जबलपुर। मझौली थाना क्षेत्र के गनियारी गांव में 9 सितम्बर की रात हुए महिला के अंधे कत्ल का पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। पुलिस ने इस मामले में एक युवक और उसकी प्रेमिका को गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि हत्या के पीछे अवैध संबंधों का विवाद है।

    एएसपी ग्रामीण संजय साहू ने बताया कि 9 सितम्बर को ग्राम गनियारी निवासी व्यक्ति ने मझौली थाने में सूचना दी थी कि पिपरिया के जंगल में उसकी 45 वर्षीय पत्नी की लाश मिली है। महिला के गले में घातक चोटों के निशान के साथ दुष्कर्म होने के प्रमाण मिले थे।

    लिहाज पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ दुराचार और हत्या की धाराओं के तहत अपराध किया गया था। एएसपी साहू के अनुसार एसपी शशिकांत शुक्ला के निर्देश पर एसडीओपी सिहोरा डीएल तिवारी, टीआई मझौली शबाना परवेज एसआई शिवमंगल सिंह, शिवराम तरौले, राकेश पटैल, इंजन सिंह मर्सकोले की टीम गठित करके जांच शुरू की गई थी।

    एएसपी साहू ने बताया कि जांच के दौरान मवेशी चराने वालों ने जानकारी दी कि मृतका के साथ गांव का सुखदेव और छन्नी बाई अपने-अपने जानवर चराते हुए दिखाई दिए थे। लिहाजा इस पहलू पर जांच की गई तो पता चला कि सुखदेव और छन्नी बाई के बीच अवैध प्रेम संबंध थे, लिहाजा पुलिस ने सुखदेव और छन्नी बाई को हिरासत में लेकर पूछताछ की।

    हिरासत में आने के बाद सुखदेव कोल ने बताया कि एक वर्ष से छन्नी बाई के साथ उसके अवैध संबंध थे, अक्सर दोनों मवेशी चराने के बहाने से मिलते थे। लेकिन कुछ दिन पूर्व उसकी दोस्ती दूसरी महिला से हो गई थी। 9 सितम्बर की सुबह मवेशी चराने के दौरान वह उसी महिला के साथ बैठा हुआ था, तभी वहां छन्नी बाई पहुंच गई।

    जिसने दोनों को आपत्तिजनक हालत में देख लिया और भड़क उठी। छन्नीबाई ने पेंचकस से मृतका के गले में हमले शुरू कर दिए। जिसके कारण उसकी मौत हो गई। हत्या करने के बाद सुखदेव ने छन्नीबाई के कहने पर लाश जंगल में झाड़ियों के पीछे फेंक दी। एएसपी साहू के अनुसार लिहाजा दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया।

    टीम होगी पुरूस्कृत

    इस अंधे कत्ल का खुलासा करने वाली टीम में आरक्षक पंकज गुप्ता, महिला आरक्षक ज्योति काछी, आशीष कुमार, नीरज राजूपत एवं मनोज असैया की महत्वपूर्ण भूमिका रही, जिन्हें एसपी ने 10 हजार रुपयों का नकद ईनाम देने की घोषणा की है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें