Naidunia
    Thursday, December 8, 2016
    PreviousNext

    30 दिन में दें हक की राशि

    Published: Fri, 02 Dec 2016 04:02 AM (IST) | Updated: Fri, 02 Dec 2016 04:02 AM (IST)
    By: Editorial Team

    जबलपुर। मध्यप्रदेश हाईकोर्ट ने सेवानिवृत्त हेड मास्टर महेशदत्त वशिष्ठ के हक में राहतकारी आदेश सुनाया। इसके तहत 30 दिन के भीतर हक की राशि का भुगतान करने कहा गया है। न्यायमूर्ति वंदना कासरेकर की एकलपीठ के समक्ष मामले की सुनवाई हुई। इस दौरान याचिकाकर्ता का पक्ष अधिवक्ता शक्तिकुमार सोनी ने रखा। उन्होंने दलील दी कि शासकीय हायर सेकेंड्री स्कूल उदयपुरा रायसेन में सहायक शिक्षक बतौर नियुक्ति के बाद हेडमास्टर तक पदोन्नति दी गई, लेकिन वेतनमान से वंचित रखा गया। महज दो क्रमोन्नति दी गईं। लिहाजा, सेवा में रहते हक की आवाज बुलंद की गई। जब रिटायरमेंट के बाद भी मांग पूरी न हुई तो हाईकोर्ट चले आए।

    सेवा में रहते बीएड का लाभ दें- हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति सुजय पॉल की एकलपीठ ने शासकीय प्राथमिक शाला बरेली के सहायक शिक्षक दुर्गपाल सिंह के हक में राहतकारी आदेश सुनाया। इसके तहत सेवा में रहते बीएड करने के एवज में दो वेतनवृद्वि का लाभ देने की व्यवस्था दे दी। याचिकाकर्ता का पक्ष अधिवक्ता शक्तिकुमार सोनी ने रखा।

    और जानें :  # jabalpur news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी