Naidunia
    Tuesday, June 27, 2017
    PreviousNext

    अधर में कई योजनाएं, प्लान भी अधूरे

    Published: Fri, 21 Apr 2017 06:56 PM (IST) | Updated: Fri, 21 Apr 2017 06:56 PM (IST)
    By: Editorial Team

    -झाबुआ : नगर निकाय चुनाव को अब आखिरी दो माह बचे, इसके बाद लग जाएगी आचार संहिता-

    अधर में कई योजनाएं, प्लान भी अधूरे

    झाबुआ। नईदुनिया प्रतिनिधि

    नगरीय निकायों की सुगबुगाहट के साथ ही शहर में वर्तमान परिषद द्वारा किए गए कार्यों की चर्चा होना शुरू हो गई है। समर्थक और विरोधी अपनी-अपनी बात कह रहे हैं। ये बात सही है कि बीते दो साल में करोड़ों रुपए के काम हुए और शहर की तस्वीर बदलने की कोशिश की गई, लेकिन कुछ ऐसे प्रोजेक्ट भी हैं, जिनके बारे में नगर पालिका ने जोरशोर से प्रचार किया, लेकिन इन कामों को नहीं कर पाई। परिषद के पदाधिकारियों की पूरी कोशिश थी कि वो अपने कार्यकाल में इन्हें पूरा कर लें, लेकिन नहीं कर पाए। नईदुनिया ने ऐसे कुछ बड़े अधूरे कार्यों का पता लगाया।

    रिंग रोड

    10 करोड़ रुपए की लागत से प्रस्तावित रिंग रोड के लिए घोषणा मुख्यमंत्री से सालभर पहले कराई गई। योजना के तहत प्रस्ताव बनाया गया कि नेहरू मार्ग पर कालिका माता मंदिर के पास रामकुला नाले के किनारे एक रास्ता बनाया जाएगा, जो सीधे नगर पालिका कार्यालय के पास तक बनेगा। ये शहर के दो हिस्सों को जोड़ने के लिए अहम मार्ग बनेगा और शहर पर यातायात का दबाव कम होगा। नगर पालिका लगातर इसके लिए स्वीकृति के दावे करती रही, लेकिन ये काम नहीं हो सका।

    ऑडिटोरियम

    2 करोड़ रुपए की लागत से ऑडिटोरियम बनाने के लिए विधायक शांतिलाल बिलवान ने प्रयास किए। इसकी भी घोषणा सीएम से कराई गई। बताया जाता है कि बजट भी मिल गया, लेकिन जमीन के अभाव में प्रक्रिया शुरू नहीं हो पा रही। नगर पालिका ऐसी जगह चाहती है, जो शहर के लिए सुविधाजनक हो। फिलहाल चुनाव के पहले इसकी प्रक्रिया होना मुश्किल दिख रहा है।

    तालाबों का सौंदर्यीकरण

    तीन साल से ज्यादा समय से ये प्रोजेक्ट पूरा करने के प्रयास चल रहे हैं। साढ़े 5 करोड़ की स्वीकृति मिलने के बाद बार-बार पदाधिकारी लोगों के बीच इसे गिनाते रहे, लेकिन बाद में पता चला, भोपाल स्तर पर फाइल अटकी पड़ी है। कलेक्टर आशीष सक्सेना ने आकर फाइल आगे बढ़वाई। दो महीने पहले इसके टेंडर हुए, लेकिन काम अभी तक शुरू नहीं हुआ। ये एक महती योजना है। शहर के दो प्रमुख और बड़े तालाबों की तस्वीर बदलना है। चुनाव तक काम शुरू हो जाए तो बड़ी बात है।

    पेयजल योजना

    47 करोड़ की पेयजल योजना जब से स्वीकृत हुई, नगर पालिका इसे हर मंच से लेकर सड़क तक गिना रही है। कहा ये जा रहा है कि शहर के हर घर में नए कनेक्शन दिए जाएंगे, लेकिन असलियत ये है कि लगभग साढ़े 6 किमी से ज्यादा क्षेत्र तक नई पाइप लाइन नहीं डल रही। इनमें वो क्षेत्र ज्यादा हैं, जिनमें अभी तक लाइन है भी नहीं। ऐसे में फायदा उन्हें ही मिलेगा, जो पहले से पानी ले रहे हैं। हालांकि बजट बैठक में इसके लिए प्रस्ताव पारित किया गया और पूरे शहर में लाइन डालने के लिए कोशिश चल रही है।

    नेहरू मार्ग का अधूरा हिस्सा

    डीआरपी लाइन से लेकर राजवाड़े तक का हिस्सा लंबे समय से जीर्णशीर्ण हालत में रहा है। वर्षों बाद आधे हिस्से में सीसी रोड बना और आधे का डामरीकरण हुआ। लगभग 30 मीटर के हिस्से पर पुलिया चौड़ी करने के लिए काम छोड़ा गया। अब पुलिया तो चौड़ी हो चुकी, लेकिन सड़क का ये हिस्सा बन नहीं पा रहा है। नपा की कोशिश है, चुनाव के पहले ये हो जाए।

    बॉक्स....

    अचानक बन गई सौगात

    सारे अधूरे कामों के बीच नगर पालिका ने एक ऐसा नया रोड चंद दिनों में बना दिया, जो शहर के लिए सौगात साबित हुआ। दरअसल कलेक्टर कार्यालय के पीछे के पुराने रोड को प्रशासन द्वारा बंद कर दिए जाने के बाद जब इसे खोलने की मांग हुई तो कलेक्टर ने स्थायी हल निकालने को कहा। पदाधिकारियों से कहा गया, दूसरा रास्ता तलाश करे, जिस पर यातायात डायवर्ट हो सके। ऐसे में बस स्टैंड के पीछे से उत्कृष्ट सड़क तक वैकल्पिक मार्ग बनाया गया। एक सप्ताह में रास्ता निकाल दिया गया। बाद में तुरत-फुरत इसका डामरीकरण भी हो गया। अब ये अत्यधिक उपयोग में आने वाला रास्ता बन चुका है।

    काम तो चलते रहेंगे

    हमारी परिषद ने अब तक के सबसे ज्यादा काम किए हैं। दर्जनों बड़े और सैकड़ों छोटे काम हुए हैं। कुछ बड़े काम बचे हैं, लेकिन इनका होना तय है। बजट और स्वीकृति की प्रक्रिया हो चुकी है। मेरा दावा है कि आने वाली परिषद को शहर में ज्यादा काम करने को नहीं बचेगा। जो काम बचे हैं, वो शुरू हो जाएंगे। शहर के हर घर में नल कनेक्शन हम पहुंचाएंगे। इसके लिए प्रस्ताव स्वीकृत हो चुका है।

    -धनसिंह बारिया, अध्यक्ष, नगर पालिका, झाबुआ

    और जानें :  # jhabua news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी