Naidunia
    Wednesday, June 28, 2017
    PreviousNext

    51 तपस्वियों ने आयंबिल तप की तपस्या की

    Published: Mon, 19 Jun 2017 05:33 PM (IST) | Updated: Mon, 19 Jun 2017 05:33 PM (IST)
    By: Editorial Team

    51 तपस्वियों ने आयंबिल तप की तपस्या की

    -आचार्यश्री रवींद्रसूरीश्वरजी की प्रथम पुण्यतिथि मनाई

    झाबुआ। नईदुनिया प्रतिनिधि

    आचार्यश्री रवींद्रसूरीश्वरजी की प्रथम पुण्यतिथि और साध्वी अनुभवदृष्टाश्रीजी का दीक्षा दिवस श्री राज हेमेंद्र पुष्प आयंबिल खाता पर साध्वी रत्नरेखाश्रीजी, अनुभवदृष्टा श्रीजी तथा कल्पदर्शिताश्रीजी की निश्रा में श्रीसंघ ने सोमवार को मनाया।

    कार्यक्रम के तहत आचार्यश्री के चित्र पर मार्ल्यापण व दीप प्रज्जवलित किए गए। इसके बाद गुणानुवाद सभा हुई। इस अवसर पर श्रीसंघ के लगभग 51 तपस्वियों ने आयंबिल तप की तपस्या की। साध्वी अनुभवदृष्टाश्रीजी बताया कि बड़ी तपस्या और मेहनत से गुरुदेव ने त्रिस्तुतिक संघ की स्थापना की। आचार्यश्री रवींद्रसूरीश्वरजी के गुणों का वर्णन करते हुए बताया कि आप हमेशा सरलता और सादगी पसंद करते थे। पूरे श्रीसंघ में भाईचारा और आपसी समन्वय बनाए रखने के लिए कार्य करते थे। गुणानुवाद सभा में संघ के वरिष्ठ धर्मचंद्र मेहता ने बताया कि आचार्यजी के झाबुआ श्रीसंघ को दिया धर्म संदेश हमेशा प्रेरणादायक रहेगा। यशवंत भंडारी ने बताया कि गुरुदेव ने किस प्रकार तीन थुई की स्थापना कर देशभर में इसकी ख्याति फैलाई। संजय काठी ने बताया कि यह दिन बड़ा पुण्य का दिन है, क्योंकि एक ही दिन में गुरुदेव का क्रियोद्धार दिवस, आचार्यश्री की प्रथम पुण्यतिथि और साध्वीजी का दीक्षा दिवस मनाने का सौभाग्य श्रीसंघ को मिल रहा है। इस दौरान रिंकू रूनवाल, अशोक राठौर, सुरेश काठी, संतोष नाकोड़ा, मनोहर मोदी आदि उपस्थित थे। आभार तेजप्रकाश कोठारी ने माना।

    चातुर्मास समिति का गठन

    आचार्यश्री ऋषभचंद्रसूरीश्वरजी के आचार्य पदवी के बाद प्रथम चातुर्मास के झाबुआ होने की घोषणा के बाद मालवा, मारवाड़ और गुजरात सहित देशभर में उत्साह व उमंग का वातावरण है। आचार्यश्री का प्रवेश 2 जुलाई को मुनिमंडल तथा साध्वीरत्न रेखाश्रीजी सहित साध्वी मंडल के साथ होगा। चातुर्मास में देशभर से कई भक्तों के झाबुआ आगमन की संभावना है। चातुर्मास को ऐतिहासिक और भव्य बनाने के लिए श्रीसंघ ने चातुर्मास समिति का गठन किया गया। श्रीसंघ की और आचार्यश्री की सर्वानुमति से अभय धारीवाल को चातुर्मास कमेटी का संरक्षक व संजय कांठी को अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। संतोष नाकोड़ा और मनोहर मोदी ने बताया कि चातुर्मास को लेकर समाज के वरिष्ठजन और युवा कार्यकताओं की कमेटी गठित की गई है, जो चातुर्मास काल के अंतर्गत अपना मार्गदर्शन और सहयोग प्रदान करेगी। सहसंयोजक, सुभाष कोठारी, नरेंद्र पगारिया, महामंत्री मनोहर मोदी, कार्यक्रम संचालन यशवंत भंडारी, भोजन व्यवस्था प्रभारी अशोक राठौर, कोषाध्यक्ष संतोष नाकोड़ा, सह-कोषाध्यक्ष प्रेमप्रकाश कोठारी, साधु-संत वैयावच्च प्रभारी सुरेश कांठी, रमेश बांठिया, मंच व्यवस्था प्रभारी रवि राठौर, प्रतीक मोदी, कुलदीप राठौर को बनाया गया। संरक्षक रतनलाल सकलेचा, कांतिलाल बाबेल, बाबूलाल संघवी, राजमल राठौर, धर्मचंद्र मेहता, भमुतमल वैवईजी, आनंदीलाल संघवी, सोहनलाल कोठारी, हुकमीचंद छाजेड़, मनोहरलाल बाबेल, धन्नालाल कटारिया, पुखराज कांठी, बाबूलाल शाह, सरदारमल नाहटा, रखबचंद्र कटारिया, चंद्रशेखर जैन, राजेंद्र मेहता, राजमल बाबेल, अशोक कटारिया, मनोहरलाल भंडारी, मधुकर शाह, सुरेंद्र बाबेल तथा योगेंद्र पालरेचा को बनाया गया। वहीं मुख्य परामर्शदाता, संचालक मंडल, सचिव, मीडिया प्रभारी, भोजन व्यवस्था प्रभारी, अतिथि व्यवस्था प्रभारी, तपस्वी व्यवस्था प्रभारी, यातायात व्यवस्था प्रभारी, प्रचार मंत्री, आवास व्यवस्था प्रभारी, प्रभावना व्यवस्था, जल व्यवस्था प्रभारी तथा वैयावच्च व्यवस्था प्रभारी की नियुक्ति की गई है।

    और जानें :  # jhabua news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी