Naidunia
    Saturday, September 23, 2017
    PreviousNext

    डंडे में बांधकर चार किलोमीटर तक पैदल चलकर लाए महिला का शव

    Published: Mon, 17 Jul 2017 06:51 PM (IST) | Updated: Tue, 18 Jul 2017 03:14 PM (IST)
    By: Editorial Team
    katni news 17 07 2017

    कटनी। बरही थाना अंतर्गत पिपरा गांव में आकाशीय बिजली से हुई महिला की मौत के बाद उसके शव को बांस के डंडे में कपड़े से बांधकर चार किलोमीटर तक पैदल पोस्टमार्टम के लिए लाना पड़ा। इसके बाद महिला का पोस्टमार्टम कराया गया।

    खेरबा गांव में इस तरह के नजारे बरसात के दिनों में आम हो जाते हैं। गांव से निकली महानदी में पुल नहीं बना है। इसके कारण बरसात के दिनों में गांव का सड़क मार्ग से संपर्क टूट जाता है और वाहनो का आना जाना बंद रहता है। नाव के से नदी पार करना पड़ता है।

    ये है मामला

    बरही थाना अंतर्गत खेरवा गांव निवासी शांति बाई (55) पति बाबूलाल केवट 16 जुलाई को अपने बेटी-दामाद से मिलने के लिए पिपरा गांव गई थी। इसी दौरान दोपहर करीब तीन बजे आकाशीय बिजली गिरने से उसकी मौत हो गई। मौत की सूचना मिलने के बाद उसके परिजन उसे शाम को पिपरा गांव से खेरबा गांव ले गए। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस खेरबा गांव पहुंची। जहां पर पंचनामा कार्रवाई की गई।

    रात होने के कारण पुलिस ने महिला का पोस्टमार्टम नहीं कराया और महिला को उनके परिजनों को सुपुर्द कर दिया। सोमवार को महिला के शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए परिजन उसे बरही ला रहे थे। लेकिन नदी में पानी होने के कारण सड़क मार्ग से वाहनों का आना जाना बंद हो गया था।

    इसके कारण महिला के शव को बांस के डंडे से कपड़े में बांधा गया और चार किलोमीटर तक पैदल चलकर और नदी को नाव से पार कर पिपरा गांव लाया गया। इसके बाद पुलिस ने अपने वाहन से महिला के शव को बरही अस्पताल लाई। जहां पर उसका पोस्टमार्टम कराया गया है। पोस्टमार्टम के बाद महिला के शव को परिजनों को सौंप दिया गया।

    इनका कहना है

    महिला की मौत आकाशीय बिजली की चपेट में आने से हो गई थी। खेरबा गांव में नदी में पुल नहीं बना है इस कारण वहां पर बरसात के दिनों में वाहनों का आवागमन बंद हो जाता है। इसलिए शव को खेरबा गांव से पिपरा गांव तक पैदल लाना पड़ा। नदी को नाव से पार करना पड़ा। मर्ग प्रकरण दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।

    ओंकार तिवारी, थाना प्रभारी, बरही

    खेरबा गांव में पुल नहीं होने के कारण ऐसी स्थिति बनती है। वहीं मामले की सूचना भी नहीं दी गई थी। सूचना होती तो प्रशासन द्वारा शव को लाने की कोई और व्यवस्था कराई जाती है।

    धर्मेन्द्र मिश्रा, एसडीएम विजयराघवगढ़

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें