Naidunia
    Thursday, April 27, 2017
    PreviousNext

    राजस्थान की सीमा से छूटे सिंचाई विभाग के अपहृत कर्मचारी

    Published: Fri, 17 Feb 2017 04:01 AM (IST) | Updated: Fri, 17 Feb 2017 04:13 PM (IST)
    By: Editorial Team
    kidnapping 2017217 16138 17 02 2017

    मुरैना। कैलारस के सैमई गांव की नहर से 3 फरवरी की रात को अपहृत किए गए सिंचाई विभाग के दोनों कर्मचारियों को राजस्थान के मंडरायल के जंगल से पुलिस ने अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छुड़ा लिया। हालांकि अपहृतों के छूटने के बाद भी पुलिस अभी दावे से नहीं कह पा रही है किन डकैतों ने अपहरण किया है। हालांकि परिजन व सूत्रों का कहना है कि अपहृतों की रिहाई के लिए 3 लाख की फिरौती दी गई है। इसके बाद ही बदमाशों ने उन्हें छोड़ा है।

    3 फरवरी को सेमई गांव के सिंचाई विभाग की रेग्युलेटरी से बाबू जाटव व केदार जाटव का अज्ञात बदमाशों ने अपहरण कर लिया था। पुलिस लगातार सर्चिंग कर रही थी। एसपी विनीत खन्ना ने बताया कि गुरुवार सुबह पुलिस पार्टी को राजस्थान के मंडरायल व सरमथुरा के बीच के जंगल में हलचल दिखाई दी।

    पुलिस ने सर्चिंग की तो बदमाश बाबू व केदार को छोड़कर भाग गए। पुलिस दोनों अपहृतों को ले आई। बदमाशों ने केदार व बाबू की जमकर मारपीट की है। दोनों के फ्रैक्चर भी हैं। दोनों से अभी अधिक पूछताछ नहीं हो पाई है। मामला इन्वेस्टिगेशन में है कि किसने अपहरण कराया और किन बदमाशों ने अपहरण किया। सामने आ जाएगा। हालांकि संभावना है कि राजस्थान के 20 हजार के इनामी बनिया गुर्जर या वकीला गुर्जर में से किसी एक ने अपहरण किया है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी