Naidunia
    Wednesday, September 20, 2017
    PreviousNext

    अधिवक्ता अधिनियम में संशोधन की प्रतियां फाड़ी

    Published: Sat, 22 Apr 2017 03:58 AM (IST) | Updated: Sat, 22 Apr 2017 03:58 AM (IST)
    By: Editorial Team

    शाजापुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

    जिला अभिभाषक संघ ने शुक्रवार को केंद्रीय विधि मंत्री के नाम जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजेंद्र शर्मा को ज्ञापन सौंपा। इसके अलावा अभिभाषकों ने अधिवक्ता अधिनियम में किए जा रहे संशोधन की प्रतियां भी फाड़ी।

    ज्ञापन में बताया गया कि लॉ कमीशन ऑफ इंडिया द्वारा अधिवक्ता अधिनियम में कठोर अलोकतांत्रिक एवं अधिवक्ता विरोधी संशोधन किए गए हैं। अधिवक्ताओं की स्वतंत्रता समाप्त करने की प्रक्रिया का विरोध मप्र राज्य अधिवक्ता परिषद ने किया है। लॉ कमीशन की रिपोर्ट तुरंत वापस करवाई जाए। इस मौके पर अभिभाषक संघ के अध्यक्ष पीएस धोंसरिया, उपाध्यक्ष सीताराम बोड़, सचिव पंकज श्रीवास्तव, वरिष्ठ अभिभाषक एसकेडी सक्सेना, नारायणप्रसाद पांडे, सुधीरकुमार भट्ट, नरेंद्र तिवारी, विनय शर्मा, अनिल आचार्य, कृष्णकांत कराड़ा, करणसिंह गुर्जर, बन्ने शाह, सुनील विश्वकर्मा, प्रदीप पाठक, अर्जुनसिंह परमार, युनूस खान, आशीष सक्सेना आदि मौजूद थे।

    कालापीपल मंडी। अधिवक्ता अधिनियम में किए गए संशोधनों के विरोध में कालापीपल के अभिभाषकों ने न्यायालयीन कार्य बंदी करते हुए प्रतिवाद दिवस मनाया। गुरुवार दोपहर 2 बजे विधि मंत्री भारत सरकार दिल्ली के नाम ज्ञापन नायब तहसीलदार मनीष जैन को सौंपा गया। इसमें लॉ कमीशन की रिपोर्ट तुरंत वापस लेने की मांग की गई। अभिभाषकों द्वारा न्यायालयीन कार्य में भाग नहीं लेने से तहसीलदार कोर्ट में नियत पेशियों में कार्रवाई नहीं हो सकी। इस दौरान अभिभाषक संघ अध्यक्ष कुंदनसिंह पंवार, पूर्व अध्यक्षद्वय राधेश्याम शर्मा, अशोक शर्मा, पूर्व सचिव देवीसिंह मेवाड़ा, जगदीश सोनी, रामसिंह अहिरवार, राकेश अग्रवाल, जसपालसिंह गुरुदत्ता, मुकेश सवासिया, बद्रीलाल पंवार, मदनसिंह राजपूत आदि मौजूद थे।

    और जानें :  # law bar association
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें