Naidunia
    Saturday, September 23, 2017
    PreviousNext

    श्रावण के दूसरे सोमवार पर पशुपतिनाथ मंदिर में भक्तों का तांता

    Published: Mon, 17 Jul 2017 06:09 PM (IST) | Updated: Mon, 17 Jul 2017 11:50 PM (IST)
    By: Editorial Team
    pashupatinath 2017717 235043 17 07 2017

    मंदसौर। श्रावण के दूसरे सोमवार को शहर सहित पूरा अंचल भोले की भक्ति में लीन रहा। सुबह से ही शिवालयों में हर-हर महादेव के जयकारों के साथ हजारों भक्तों ने पूजा-अर्चना की। पिपलियामंडी, सीतामऊ रोड स्थित चांगली से आई कावड़ यात्राओं ने शहर को शिवमय कर दिया।

    अष्टमुखी भगवान पशुपतिनाथ महादेव मंदिर प्रबंध समिति के सदस्यों के अनुसार दिनभर में 50 हजार से अधिक भक्त पशुपतिनाथ मंदिर पहुंचे। सावन सोमवार होने से मनोकामना अभिषेक में भी भक्तों की भारी भीड़ रही। शहर के साथ ही आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से हजारों भक्त पैदल पशुपतिनाथ मंदिर पहुंचे।

    श्रावण मास के दूसरे सोमवार को शिवालयों में सुबह से भक्तों तांता लगा रहा। दिन भर श्रद्घालु पूजा-अर्चना करते रहे। कतार में लगकर लोगों को दर्शन के लिए इंतजार करना पड़ा। शहर सहित जिले के अन्य स्थानों से भी भक्तों ने भगवान पशुपतिनाथ के दर्शन किए।

    मंदिर में सुबह से ही ॐ नमः शिवाय के जयकारे गूंजने लगे। भक्तों ने भगवान का जलाभिषेक कर बिल्व पत्र, दूध, दही, भांग, धतूरा अर्पित किया। भक्तों की सुरक्षा के लिए पुलिस व्यवस्था के भी पुख्ता इंतजाम किए। अन्य शिव मंदिरों में शाम को सुंदर श्रृंगार किया गया। इसके बाद भगवान भोलेनाथ की आरती उतारकर प्रसाद वितरित किया गया।

    पैदल पहुंचे हजारों भक्त

    सोमवार को भक्तों की शिवभक्ति देखते ही बनती थी। मंदसौर ही नहीं आसपास के रीच्छा, सोनगरी, दलौदा सहित कई ग्रामीण क्षेत्रों से भक्तों की टोलियां पैदल ही पशुपतिनाथ के दर्शन करने पहुंचती रही। अभिषेक अपने आठ दोस्तों के साथ रीछामुंहा ग्राम से पैदल ही मंदसौर पहुंचे। इसी तरह दिनभर पैदल यात्रियों का आना-जाना चलता रहा।

    महिलाओं व युवाओं ने किया नृत्य

    सीतामऊ रोड स्थित ग्राम चांगली से भी सैकड़ों भक्तों ने कावड़ यात्रा निकाली। ग्राम का भ्रमण कर यात्री सीतामऊ रोड होते हुए सीतामऊ फाटक की तरफ से मंदसौर पहुंचे। यात्रा में कई महिलाएं व युवा नृत्य करते हुए चल रहे थे। इसी तरह ग्राम गुर्जरबर्डिया से भी कावड़ यात्रा आई, जो सीतामऊ रोड से चांगली की यात्रा में शामिल हो गई।

    कावड़ियों ने किया जलाभिषेक

    सोमवार को पिपलियामंडी से हजारों कावड़ यात्री शहर के प्रमुख मार्गों से होते हुए पशुपतिनाथ मंदिर पहुंचे। पिपलियामंडी के टीलाखेड़ा बालाजी मंदिर पर सुबह 7.30 बजे महाआरती हुई। इसके बाद यहां से कावड़ यात्रा प्रारंभ हुई। पिपलियामंडी के प्रमुख मार्गों से होती हुई यात्रा महू-नीमच राजमार्ग पहुंची। यहां से सुबह करीब 11.30 बजे कावड़ियों ने मंदसौर नगर में प्रवेश किया। यात्रा में बच्चे, महिलाएं, युवतियां सभी कावड़ लिए चल रहे थे। नगर प्रवेश के साथ ही महू-नीमच राजमार्ग से यात्रा का स्वागत दौर शुरू हो गया। जगह-जगह विभिन्न संस्थाओं लोगों द्वारा कावड़ियों का स्वागत किया। कावड़ियों ने पशुपतिनाथ का जलाभिषेक कर क्षेत्र में सुख-शांति की कामना की।

    तीन क्विंटल खिचड़ी वितरित

    समृद्घि ग्रुप ने कावड़ियों का कृषि उपज मंडी के बाहर तीन क्विंटल खिचड़ी और चाय से स्वागत किया। गु्रप सदस्यों द्वारा पांच साल से पिपलियामंडी, बूढ़ा तरफ से आने वाले कावड़ियों का स्वागत किया जा रहा है। सोमवार को ग्रुप सदस्यों ने पिपलियामंडी से आने वाले कावड़ियों का तीन क्विंटल खिचड़ी, चाय व पानी से स्वागत किया। 6 हजार कावड़ियों ने खिचड़ी का लाभ किया।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें