Naidunia
    Tuesday, October 17, 2017
    PreviousNext

    'शोषित और पिछड़े समाज के लिए गौरवभरा पल'

    Published: Tue, 20 Jun 2017 12:22 AM (IST) | Updated: Tue, 20 Jun 2017 12:22 AM (IST)
    By: Editorial Team

    डॉ. कोविंद की राष्ट्रपति की उम्मीदवारी का स्वागत, आंबेडकर विवि में हुआ कार्यक्रम,

    महू। बिहार के राज्यपाल डॉ. रामनाथ कोविंद को एनडीए द्वारा राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार बनाए जाने को लेकर लोगों में खुशी है। महू के डॉ. आंबेडकर सामाजिक विज्ञान विवि में इसे लेकर एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। यहां विवि के सभी सदस्यों ने इस उम्मीदवारी को दलित वर्ग के सामाजिक सशक्तिकरण के लिए एक उम्दा कदम बताया और इसकी सराहना की। साथ ही कहा कि यह शोषित और पिछड़े समाज के लिए गौरवभरा पल है।

    सोमवार शाम आंबेडकर सामाजिक विज्ञान विवि में हुए एक कार्यक्रम में विशेष अतिथि के तौर पर अमरकंटक के इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजाति विवि के कुलपति प्रो. टीवी कट्टीमनी पहुंचे। उन्होंने अपने संघर्ष की कहानी विद्यार्थियों और तमाम दूसरे लोगों से साझा की। उन्होंने डॉ. कोविंद को राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार बनाए जाने के कदम को डॉ. आंबेडकर के एक सपने की जीत बताया जो पिछड़ी जाति समूह से आने वाले लोगों को सशक्त बनाकर पूरे शोषित समाज को एक नई दिशा और उम्मीद देने का था।

    विवि में आए थे राज्यपाल डॉ. कोविंद

    बिहार के राज्यपाल के रूप में डॉ. रामनाथ कोविंद कुछ समय पहले ही महू के इस विवि में आए थे जहां उन्होंने विवि द्वारा चलाए जा रहे तमाम कार्यक्रम को एक सराहनीय प्रयास बताया था। कार्यक्रम के दौरान लोगों में खुशी थी कि वे देश के भावी राष्ट्रपति से मिल चुके हैं और संभवतः अबकी बार विवि में वे राष्ट्रपति के रूप में आएंगे। कार्यक्रम में विवि के अन्य प्रोफेसरों ने भी डॉ. कोविंद की उम्मीदवारी पर अपनी खुशी जाहिर की। इनमें कुलसचिव डॉ. बी भारती, प्रो. सीडी नाइक, प्रो. डीके वर्मा, प्रो. आरडी मौर्य, प्रो. उपाध्याय, डॉ. बीडी गोंडाने आदि शामिल रहे।

    गौरवभरा पल

    कार्यक्रम में अंतिम वक्तव्य विवि के कुलपति डॉ. आरएस कुरील का था। उन्होंने डॉ. कोविंद के इस नामांकन के लिए एनडीए को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि यह न केवल शोषित और पिछड़े समाज के लिए गौरवभरा पल है बल्कि देश के हर उस नागरिक के लिए प्रेरणादायक पल है जो कठिन परिश्रम के दम पर ऊंचे से ऊंचे मुकाम को छूने का प्रयास करता है। डॉ. कुरील ने सभी विद्यार्थियों से जीवन के संघर्ष पथ पर डटे रहने की सीख दी।

    डॉ. कलाम से भी जुड़े थे कुलपति डॉ.कुरील

    उल्लेखनीय है कि डॉ. कुरील कृषि वैज्ञानिक हैं और देश के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम के साथ उनके जेट्रोपा यानी रतनजोत प्रोजेक्ट पर भी काम कर चुके हैं। इसी तरह वे भावी राष्ट्रपति डॉ. कोविंद से भी पेशेगत तौर पर जुड़े रहे हैं।

    अमरकंटक विवि का न्योता

    कार्यक्रम का संचालन डॉ. डीके वर्मा ने किया। आभार कुलसचिव डॉ. बी भारती ने माना। कार्यक्रम में विवि के पीएचडी के शोधार्थी मौजूद थे जिन्हें विशेष अतिथि के तौर पर आए अमरकंटक विवि के कुलपति प्रो. टीवी कट्टीमनी ने आंबेडकर विवि से हुए करार के तहत वहां आने और विभिन्ना गतिविधियों में सम्मिलित होने का न्योता दिया।

    और जानें :  # mhow news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें