Naidunia
    Monday, April 24, 2017
    PreviousNext

    मुख्यमंत्री का भाषण सुना और स्वास्थ्य मंत्री ने वस्त्र दान किए

    Published: Sat, 14 Jan 2017 07:06 PM (IST) | Updated: Sat, 14 Jan 2017 07:06 PM (IST)
    By: Editorial Team
    14janmra4a 14 01 2017

    ुरैना। प्रदेशभर में शनिवार से शुरू हुए आनंद महोत्सव के जिला स्तरीय कार्यक्रम में शनिवार को लोगों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का लाइव भाषण सुना। साथ ही आनंदक कार्यकर्ताओं ने आनंद विभाग के उद्देश्य व आगामी एक सप्ताह में आयोजित होने वाली गतिविधियों को बताया। कार्यक्रम में प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री रुस्तम सिंह, महापौर अशोक अर्गल सहित कई अफसर, छात्र व शहर के लोग मौजूद थे। कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री, महापौर व जेलर ने कपड़े भी आनंद प्रकल्प में दिए, जिससे दूसरे लोग उन्हें लेकर उपयोग कर सकें।

    कार्यक्रम का आयोजन खेल एवं युवक कल्याण ने किया था। मुख्यमंत्री के भाषण के बाद जिले के आनंदक के रूप में रजिस्टर्ड स्वयंसेवी आशा सिकरवार व रवि गुप्ता ने आनंद विभाग के उद्देश्य व कार्य को मौजूद लोगों को बताया। बताया कि अभी पुराने बस स्टैंड परिसर में आनंद प्रकल्प खोला गया है। जहां लोग अपनी अनुपयोगी वस्तुओं को दे सकते हैं और जरूरतमंद लोग अपने आनंद के लिए वस्तुएं ले सकते हैं। इसके अलावा जिले में 21 जनवरी तक आनंद महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। इसके तहत जिले की पंचायतों में विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम, खेल संबंधी गतिविधियां आयोजित की जाएंगी।

    जरूरतमंदों को सहायता पहुंचाकर आनंदित हों

    कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री ने आनंद विभाग बनाकर आनंद महोत्सव इसलिए शुरू किया, जिससे लोग अपनी तनावभरी जिंदगी में आनंद महसूस कर सकें। सही मायने में आनंद दूसरों की मदद करके आता है। इसलिए आनंद प्रकल्प को वस्तुएं दान करें, जिससे वस्तुएं प्राप्त करने वाला आनंदित हो सके। वस्तु दान करने में भी आनंद आता है, जितना वस्तु लेने में आनंद आता है। कार्यक्रम में मेयर अशोक अर्गल ने कहा कि आनंदक यानी आनंद देने वाला बनने के लिए कोई भी कभी भी अपना रजिस्ट्रेशन करा सकता है। बस उसे आनंद संस्थान की वेबसाइट पर जाकर पंजीयन कराना होगा या फिर फोन पर संपर्क करना होगा। अभी तक जिले में 166 आनंद रजिस्टर्ड हो चुके हैं। इनकी ट्रेनिंग भी हो चुकी है।

    अधिकतर अफसर नहीं थे कार्यक्रम में

    आनंद महोत्सव के शुभारंभ के अवसर पर आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में जिले के अधिकतर अफसर नहीं थे। कार्यक्रम को लेकर ज्यादा प्रचार प्रसार भी नहीं किया गया था। इसलिए कार्यक्रम में एनसीसी कैडेट्स, कुछ स्कूलों के छात्र, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व शहर के कुछ लोग ही शामिल हुए।

    और जानें :  # morena news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी