Naidunia
    Thursday, September 21, 2017
    PreviousNext

    परीक्षा केन्द्र बनाने थे 5 किमी के अंदर, बना दिए 15 से 30 किमी दूरपरीक्षा केन्द्र बनाने थे

    Published: Sat, 14 Jan 2017 08:25 PM (IST) | Updated: Sat, 14 Jan 2017 08:25 PM (IST)
    By: Editorial Team

    मुरैना। माध्यमिक शिक्षा मंडल के नियम के मुताबिक किसी भी स्कूल का परीक्षा केन्द्र मूल स्कूल से 5 किमी से अधिक दूरी पर नहीं बनाया जा सकता। क्योंकि इससे छात्रों को परीक्षा केन्द्र पर पहुंचने में परेशानी आती है, लेकिन जिले में अभी तक ऐसे करीब तीन मामले सामने आए हैं जिनमें परीक्षा केन्द्र स्कूल से 15 से 30 किमी के दायरे में बना दिए गए हैं। खासबात यह है कि इन स्कूलों के संचालकों व प्रधानाचार्यों ने शिक्षा विभाग के अफसरों को आवेदन भी दिए हैं, जिससे उनके परीक्षा केन्द्रों को पास के स्कूलों में बनाया जाए। जिससे छात्रों को परीक्षा केन्द्र पर आने जाने में परेशानी न हो और आसानी से परीक्षा दे सकें।

    ये मामले आए मामले प्रमुख रूप से, जिन्होंने की शिकायत

    - गलेथा गांव के शासकीय हाईस्कूल के प्राचार्य ने शिक्षा विभाग सहित प्रशासन के अफसरों को पत्र देकर बताया कि उनके स्कूल के छात्रों का परीक्षा केन्द्र 30 किमी दूर जौरा स्कूल में बनाया गया है। जबकि नियमानुसार 5 किमी से दूर केन्द्र नहीं बनाया जा सकता। इसलिए गलेथा स्कूल के परीक्षा केन्द्र को परिवर्तित कर पास के स्कूलों में किया जाए। प्रधानाचार्य ने आरोप लगाया कि गलेथा के दो अन्य अशासकीय स्कूलों के परीक्षा केन्द्र गलेथा हाईस्कूल में बना दिया है। इसके लिए स्कूल के संचालकों ने शिक्षा विभाग के अफसरों से सांठगांठ की है।

    - मुरैना शहर में चलने वाले प्राइवेट स्कूल संस्कार भारती के संचालक नरेन्द्र सिकरवार ने भी शिक्षा विभाग के अफसरों सहित मुख्यमंत्री को शिकायती आवेदन भेजा है। जिसमें कहा है कि बोर्ड परीक्षा के लिए उनके स्कूल के छात्रों का परीक्षा केन्द्र 15 किमी दूर हाइवे पर आईटीआई भवन को बनाया है। जबकि शहर के ही किसी भी स्कूल में उनके छात्रों की परीक्षा कराई जा सकती थी, लेकिन शिक्षा विभाग के अफसरों ने नकल माफिया के इशारे पर परीक्षा केन्द्र बनाए हैं और उनके स्कूलों के परीक्षा केन्द्र ऐसी जगहों पर बनाए हैं, जहां पर नकल आसानी से हो सकती है।

    - इसी तरह शहर के ज्ञानोदय स्कूल का 8 किमी दूर हिंगोना गांव व विद्याविहार स्कूल का देवरी गांव में परीक्षा केन्द्र बनाया गया है। ऐसे ही कई स्कूल हैं जिनके परीक्षा केन्द्र दूर बनाए गए हैं। इन स्कूलों के संचालकों व प्राचार्यों ने शिकायत की है।

    वर्जन

    - परीक्षा केन्द्र भवनों की केपेसिटी के आधार पर बनाए गए हैं। क्योंकि एक स्कूल का परीक्षा केन्द्र उसी स्कूल में नहीं रह सकता। यदि आसपास कोई सरकारी भवन नहीं होगा तो जहां पर भवन मिलेगा, वहीं पर परीक्षा केन्द्र बनाया जाएगा।

    डॉ. आरएन नीखरा, जिला शिक्षा अधिकारी, मुरैना

    और जानें :  # morena news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें