Naidunia
    Wednesday, June 28, 2017
    PreviousNext

    22 को आंधी-तूफान व 30 से बारिश की संभावना

    Published: Mon, 19 Jun 2017 03:58 AM (IST) | Updated: Mon, 19 Jun 2017 03:58 AM (IST)
    By: Editorial Team

    नीमच। नईदुनिया न्यूज

    जिले में 22 जून को आंधी-तूफान की संभावना रहेगी। बारिश की शुरुआत 30 जून के आसपास होने की संभावना जताई जा रही है। भीषण गर्मी व तपन के बीच आसमान में बादलों ने डेरा जमा लिया है। उमस व तपन से जनजीवन प्रभावित हो रहा है। बारिश व तूफान के संबंध में यह पूर्वानुमान है मौसम विज्ञान केंद्र भोपाल का।

    इन दिनों मालवा विशेषकर राजस्थान के सीमावर्ती क्षेत्रों में भीषण गर्मी कहर ढा रही है। नीमच व आसपास के क्षेत्रों में अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस या इससे अधिक बना हुआ है। हवा की रफ्तार बढ़ने के बावजूद नागरिकों को गर्मी से राहत नहीं मिली है। रविवार को अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जबकि न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस रहा है। मौसम विज्ञान केंद्र की माने तो मप्र में मानसून ने दस्तक नहीं दी है। मानसून महाराष्ट्र पहुंचा है। लेकिन मप्र में दाखिल होने में कुछ समय और लगेगा। मौसम के उतार-चढ़ाव को देखते हुए 22 जून को नीमच व आसपास के क्षेत्रों में तेज आंधी-तूफान की संभावना रहेगी। शनिवार से बादल भी डेरा डाल दिया है। बादलों के कारण गर्मी व तपन का प्रकोप बढ़ गया है। हल्की बूंदाबांदी के साथ 30 जून से बारिश की शुरुआत होने की संभावना है।

    --

    तापमान एक निगाह में-

    दिन अधिकतम न्यूनतम

    11 जून 42 30

    12 जून 43 32

    13 जून 42 31

    14 जून 43 30

    15 जून 42 30

    16 जून 40 27

    17 जून 39 27

    18 जून 38 26

    (जानकारी मौसम विज्ञान केंद्र से प्राप्त। तापमान डिग्री सेल्सियस में।)

    --

    अधिकतम तापमान में 2 डिग्री की गिरावट, न्यूनतम 1 डिग्री चढ़ा -

    18 जून को तापमान में 18 जून 2016 के मुकाबले 2 डिग्री सेल्सियस का अंतर नजर आया। अधिकतम तापमान गत वर्ष 40 डिग्री सेल्सियस था। जबकि इस बार रविवार को अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। न्यूनतम तापमान में 1 डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी हुई है। 18 जून 2016 को न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस था। जबकि रविवार को न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

    --

    अभी जनजीवन पर असर-

    - उमसभरी गर्मी के कारण पंखे व कूलर राहत नहीं दे पा रहे हैं।

    - दोपहर के समय आवागमन थमने से कारोबार प्रभावित हो रहा है।

    - मौसम के उतार-चढ़ाव के कारण सेहत पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है।

    - जिला व निजी अस्पतालों में मरीजों की भीड़ पड़ रही है।

    - पेट दर्द, उल्टी-दस्त, घबराहट व बुखार के मरीजों में इजाफा हुआ है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      अटपटी-चटपटी