Naidunia
    Monday, September 25, 2017
    PreviousNext

    किराया सूची चस्पा नहीं, कर रहे मनमानी वसूली

    Published: Mon, 18 Sep 2017 12:20 AM (IST) | Updated: Mon, 18 Sep 2017 12:20 AM (IST)
    By: Editorial Team

    करेली। नईदुनिया न्यूज

    नरसिंहपुर से सागर, तेंदूखेड़ा, गाडरवारा आदि स्थानों में यात्री बसें चलाई जा रही है। इन यात्री बसों में किराया सूची चस्पा नहीं रहती और न इन यात्री बसों में फिटनेश प्रमाण पत्र के साथ साथ अनुमति प्रमाण पत्र नहीं चस्पा रहता है और तो और यात्री बसों के चालक, परिचालक बिना यूनिफार्म के रहते हैं। यात्री बसों में (फस्टेड बाक्स) प्राथमिक चिकित्सा पेटिका भी नदारद रहती है। किराया सूची के अभाव में यात्री से अनाप सनाप किराया वसूला जाता है। यह सब कार्य जिला परिवहन और पुलिस के नाक के नीचे धड़ल्ले से चल रहा है। यात्री बस के मालिक अपनी मन मर्जी पर उतारू है। क्योंकि यह अपनी सेटिंग के चलते परिवहन व पुलिस विभाग को मासिक रुपया देते हैं और शासन को अनुमति देने के नाम पर करोड़ों रुपया का नुकसान पहुंचाते हैं।

    ओवर नाइट एक्सप्रेस के स्टापेज का इंतजार

    करेली। नईदुनिया न्यूज

    नगरवासी अरसे से 11471 डाउन व 11472 अप जबलपुर भोपाल ओव्हर नाइट एक्सप्रेस के करेली स्टापेज का बेसब्री से इंतजार है। मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय जबलपुर ने ओव्हर नाइट एक्सप्रेस के करेली ठहराव के लिए चार बार प्रस्ताव 8 नवम्बर 2006, 26 दिसम्बर 06, 28 फरवरी 07, 27 जून 07 को मुख्यालय में भेजे हैं, जो अभी भी विचाराधीन हैं। ओव्हर नाइट एक्सप्रेस का करेली में स्टापेज क्षेत्र के हजारों हजार नागरिकों को सुविधा प्रदान करेगा। प्रदेश की व्यवसायिक राजधानी इंदौर से सीधे जुड़ने उक्त ट्रेन महती साबित होगी व इसके स्टापेज से व्यापारिक क्षेत्र को सुविधा मिलेगी।

    यात्री होते हैं परेशान

    यात्रियों का कहना है कि प्रदेश की राजधानी भोपाल व प्रमुख व्यवसायिक केन्द्र इन्दौर करेली नगर व क्षेत्र से अनेकों नागरिकों का प्रतिदिन आना जाना होता है। ओव्हर नाइट के स्टापेज से जहां रेल्वे को राजस्व में वृद्धि होगी वहीं क्षेत्र को नई सौगात मिलेगी। अनेक जागरूक नागरिकों का कहना है कि क्षेत्र के सभी क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि तत्संबंध में ठोस पहल करें व पश्चिम मध्य रेल के महाप्रबंधक व डीआरएम जबलपुर नागरिकों की मांग पर सहानुभूति पूर्वक विचार करें।

    इनका कहना है....

    इसका स्टापेज होने से लोगों को इंदौर तक जाने के लिए केवल एक गाड़ी पर निर्भर नहीं होना पड़ेगा, वर्तमान समय में इंदौर तक जाने के लिए केवल एक ही गाड़ी है, इसलिए इस गाड़ी का स्टापेज होना आवश्यक है।

    गजेन्द्र आचार्य नागरिक, करेली

    नगर से अनेकों व्यापारियों को व्यवसाय के लिये इंदौर जाना होता है, अगर ओव्हर नाइट का स्टापेज हो जाता है तो इससे आने जाने में सुविधा होगी साथ ही समय भी बचेगा।

    विपिन जैन नागरिक, करेली

    जब से इस गाडी की शुरूआत हुई है तब से ही करेली के लिए इसके स्टापेज की मांग होती आ रही है, पर इस के लिए अभी तक कोई भी ठोस पहल द्वारा नहीं की गई।

    अमित श्रीवास्तव, नागरिक करेली

    और जानें :  # nsp news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें