Naidunia
    Monday, August 21, 2017
    PreviousNext

    गोवंश संरक्षण मुद्दे पर गंभीर नहीं शासन-प्रशासन

    Published: Mon, 14 Aug 2017 04:04 AM (IST) | Updated: Mon, 14 Aug 2017 04:04 AM (IST)
    By: Editorial Team

    सड़कों पर दर-दर की ठोकरे खाने को मजबूर गोवंश, सुध लेने वाला कोई नहीं

    सचित्र आरएजे 15 नरसिंहगढ़। देवगढ़ के समीप गायों की वजह से फंसे वाहन।

    नरसिंहगढ़ । नवदुनिया न्यूज

    सड़कों पर दर-दर की ठोकरे खाने को मजबूर गोवंश की सुध लेने वाला कोई नहीं है। गोवंश संरक्षण के मुद्दे को लेकर शासन-प्रशासन सहित सामाजिक संगठन भी अपनी चुप्पी साधे हुए है। आए दिन शहर में गोवंश दुर्घटनाओं के शिकार हो रही है। वहीं गायों सहित अवारा मवेशियों की टक्कर से आमजन भी चोटिल होते दिख रहे हैं। बावजूद गोवंश संरक्षण की दिशा में कोई ठोस कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। बीते कुछ दिनों से नेशनल हाईवे 12 पर गादिया स्कूल से लेकर देवगढ़ तक गायों की संख्या में खासा इजाफा हुआ है। बीच हाईवे पर बैठी सैकड़ों गायों की वजह से बड़े जाम भी लग रहे हैं। वर्तमान में शहर में अर्जुन गौशाला और श्रीमानस गीता गौशालाओं द्वारा गायों की देखरेख की जा रही है। लेकिन इन गौशाला में भी व्यवस्था के अनुसार निश्चित संख्या में गायों को रखा जाता है। क्योंकि आवश्यकता से अधिक गाये रखने पर भी गौशाला प्रबंधन को सुविधाएं जुटाने समस्याएं उत्पन्न होती है। वेसे आगामी समय में बड़ोदिया तालाब के समीप धर्मसभा की भूमि पर बड़ी गौशाला का निर्माण प्रस्तावित है। जिसके निर्माण उपरांत तहसील क्षेत्र में गोवंश संरक्षण की दिशा में काफी सफलता मिलने की उम्मीद है।

    और जानें :  # rajgarh news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें