Naidunia
    Wednesday, December 13, 2017
    PreviousNext

    कविताओं के माध्यम से बालिकाओं को बचाने का संदेश

    Published: Sat, 14 Oct 2017 04:10 AM (IST) | Updated: Sat, 14 Oct 2017 04:10 AM (IST)
    By: Editorial Team

    सारंगपुर।नवदुनिया न्यूज

    स्थानीय डॉ भीमराव अम्बेडकर पार्क स्थित वरिष्ठ नागरिक सेवा केंद्र (डे केयर सेंटर) पर प्रति प्रति सप्ताह की तरह काव्यगोष्ठी हुई। इसमें विशेष रूप से बालिका दिवस मनाया गया। बालिका बचाओ, बालिका पढ़ाओ से संबंधित कविताओं का पाठ किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ अध्यापक जगदीश राठौर ने की। कार्यक्रम में रचनाकर मुरलीर पथिक ने कहा कि सीता, सत्या सवित्री अनसुईया सी नारी। ईश्वर के विधान से थी शक्ति जिनकी भारी। इसी क्रम में प्रेमनारायण पुष्पद तारागंज ने कहा कि हे मेरे देश के पिताओ बेटी का जन्म दिवस मनाओं। मेरे देश की बेटियों तुम सीता, गीता हो। पूर्व सीएमओ ओपी दुबे ने भाव विहल हो बेटीयो की स्पंदना सुनाई। श्री राठोर ने मालवी भाषा में बेटी की वेदना सुनाई। इस अवसर पर पेंशनर्स संघ अध्यक्ष एलएन त्रिकार, पं सत्यनारायण शर्मा काका आदि ने भी अपनी प्रस्तुतियां दी। कार्यक्रम का संचालन कर रहे रचनाकर स्वदीप सोलंकी सतीश ने अभिव्यक्ति प्रस्तुत करते हुए कहा चंद शब्दो में क्या तेरे गुण गांऊ मॉं, तेरी गागर में सागर समाता नहीं। कार्यक्रम में आभार नंदकिशोर सोनी ने माना।

    और जानें :  # Rajgarh News
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें