Naidunia
    Thursday, August 24, 2017
    PreviousNext

    एटीएमधारक के परिजनों को मय ब्याज 2 लाख की राशि दे एचडीएफसी बैंक

    Published: Mon, 14 Aug 2017 04:08 AM (IST) | Updated: Mon, 14 Aug 2017 04:08 AM (IST)
    By: Editorial Team

    जिला उपभोक्ता फोरम का फैसला, खातेदार की मौत के बाद बैंक ने नहीं दी थी बीमा राशि

    सागर। नवदुनिया प्रतिनिधि

    जिला उपभोक्ता फोरम ने एचडीएफसी बैंक के खाताधारी की मौत के बाद उसके माता-पिता को 2 लाख रुपए 7 प्रतिशत ब्याज, सेवा में कमी और वाद खर्च देने का आदेश पारित किया है।

    14 अप्रैल 2015 को बहेरिया थाना क्षेत्र के लक्ष्मीनगर निवासी प्रदीप चढ़ार की सड़क हादसे में मौत हो गई थी। मृतक प्रदीप का बैंक खाता एचडीएफसी बैंक की मकरोनिया ब्रांच में था। बैंक ने एटीएम धारक को दो लाख रुपए दुर्घटना बीमा मुफ्त देने का वचन दिया था। बैंक खाता धारक प्रदीप की मौत होने के बाद बैंक प्रबंधन ने कानूनी बाधाएं बताते हुए उक्त राशि मृतक के परिजनों को देने से इंकार कर दिया था। परिवादी मृतक प्रदीप के पिता कल्याण चढ़ार उसकी पत्नी चिन्टी बाई की ओर से परिवाद अधिवक्ता मोहित श्रीवास्तव ने जिला उपभोक्ता फोरम में पेश किया था। फोरम के अध्यक्ष सुबोध जैन, सदस्य अनुभा वर्मा ने मृत्यु व बैंक संबंधी दस्तावेजों का परीक्षण कर पाया कि मृतक प्रदीप का बचत खाता खोलने के साथ दुर्घटना बीमा किया गया था। परिवादी ने प्रदीप की मौत की लिखित सूचना बैंक को दी थी। सूचना देने के बाद भी बैंक द्वारा राशि का भुगतान नहीं किया गया।

    फोरम ने इसे उपभोक्ता सेवा में कमी माना। आदेश में उल्लेख किया गया है कि बैंक, परिवादी को दो लाख रुपए की बीमा राशि, मृत्यु तारीख से 7 प्रतिशत ब्याज, 10 हजार रुपए सेवा में कमी और 3 हजार रुपए वाद खर्च देने का आदेश पारित किया।

    ----------------------

    सांकेतिक फोटो- 1308एसए 13

    और जानें :  # sagar news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें