Naidunia
    Thursday, August 24, 2017
    PreviousNext

    आर्मी इलाके से एक महिला को भी स्वाइन फ्लू पॉजीटिव, 4 संदिग्ध के सैंपल लिए

    Published: Mon, 14 Aug 2017 04:08 AM (IST) | Updated: Mon, 14 Aug 2017 04:08 AM (IST)
    By: Editorial Team

    -जिले में अब तक तीन मरीजों को स्वाइन फ्लू की पुष्टि हो चुकी है।

    -आर्मी इलाके से ही तीन जवान व एक बुजुर्ग को स्वाइन फ्लू की आशंका।

    सागर। नवदुनिया प्रतिनिधि

    सेना के इलाके में स्वाइन फ्लू का खतरा बढ़ता जा रहा है। रविवार को यहां से एक महिला मरीज को स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई है। महिला को आर्मी अस्पताल में भर्ती कर इलाज चल रहा है। वहीं आर्मी अस्पताल में 4 और मरीजों को स्वाइन फ्लू की आशंका जताई गई है। इनमें 3 सैनिक व एक बुजुर्ग शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि दो दिन पहले भी आर्मी अस्पताल में भर्ती एक सैनिक को स्वाइन फ्लू एच1एन1 की पुष्टि हुई थी।

    सागर में दिनों-दिन स्वाइन फ्लू का खतरा बढ़ता जा रहा है। रविवार को आर्मी अस्पताल में भर्ती एक और महिला को स्वाइन फ्लू एच1एन1 की पुष्टि हुई है। जबलपुर के रीजनल मेडिकल रिसर्च सेंटर से महिला को स्वाइन फ्लू की पॉजीटिव रिर्पोट सीएमएचओ कार्यालय भेजी गई है। आर्मी इलाके में स्वाइन फ्लू का यह दूसरा मामला है। शहर में अब तक कुल तीन मरीजों को स्वाइन फ्लू की पुष्टि हो चुकी है। इनमें एक आर्मी में सैनिक, दूसरा मामला सैनिक के परिवार की महिला तथा तीसरा मामला बीएमसी में डॉक्टर की पत्नी शामिल हैं।

    आर्मी अस्पताल से 4 संदिग्धों के सैंपल लिए

    सीएमएचओ कार्यालय से मिली जानकारी अनुसार आर्मी अस्पताल में तीन सैनिकों सहित एक बुजुर्ग को भी स्वाइन फ्लू के लक्षण बताए गए हैं। सीएमएचओ कार्यालय से इनके सैंपल के बीटीएम किट भेजकर स्वाब सैंपल कराए गए हैं। रविवार शाम को चारों सैंपल जांच के लिए जबलपुर स्थित रीजनल मेडिकल रिसर्च सेंटर भेजे गए हैं। संभवतः सोमवार शाम तक इनकी जांच रिपोर्ट आ जाएगी।

    तीन मरीजों के स्वाइन फ्लू की पुष्टि हो चुकी है

    स्वाइन फ्लू के मामले में तीन मरीजों को एच1एन1 के संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। इसमें एक सैनिक व एक महिला के सैंपल आर्मी अस्पताल से आए थे। वहीं तीसरा मरीज बीएमसी के डॉक्टर के परिवार से था। 4 सैंपल और जांच के लिए भेजे गए हैं। ये सैंपल भी आर्मी अस्पताल से ही आए हैं।

    -डॉ. इंद्राज सिंह ठाकुर, सीएमएचओ सागर

    ------------

    स्वाईन फ्लू एहतियात से बचाव संभव

    स्वाइन फ्लू , इनफ्लुएंजा यानी फ्लू वायरस के नए स्ट्रेन इनफ्लुएंजा वायरस से होने वाला इनफेक्शन है। इस वायरस को ही एच1एन1 कहा जाता है। यह वायरस बारिश और ठंड के समय तेजी से फैलता है। इससे बचाव ही एकमात्र उपाय माना जाता है। स्वाईन फ्लू को लेकर अभी तक कोई टीका ईजाद नहीं किया गया है। हालांकि प्रिवेंटिंव के तौर पर बाजार में टीके जरूर उपलब्ध हैं। स्वाइन फ्लू से बचाव का सबसे अच्छा तरीका सर्दी-खांसी के मरीजों से दूरी बनाए रखें। हाथ न मिलाएं। सर्दी-जुकाम के साथ बुखार और सांस लेने में तकलीफ हो रही है तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। बाहर से आने वाले लोग विशेष अहतियात बरतें।

    स्वाइन फ्लू के सामान्य लक्षण

    - नाक का लगातार बहना, छींक आना।

    - कफ, कोल्ड और लगातार खांसी।

    - सांस लेने में तकलीफ, लंग्स में इंफेक्शन।

    - मांसपेशियां में दर्द या अकड़न।

    - सिर में भयानक दर्द।

    - नींद न आना, ज्यादा थकान।

    - दवा खाने पर भी बुखार का लगातार बढ़ना।

    - गले में खराश का लगातार बढ़ते जाना।

    कैसे फैलता है स्वाइन फ्लू?

    - स्वाइन फ्लू का वायरस हवा में ट्रांसफर होता है।

    - खांसने, छींकने, थूकने से वायरस मरीज से दूसरे व्यक्ति तक पहुंचता है।

    - संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से भी स्वाइन फ्लू का वायरस फैलता है।

    -------------------------------

    और जानें :  # sagar news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें