Naidunia
    Friday, December 15, 2017
    PreviousNext

    स्वास्थ्य विभाग के आठ कर्मचारी बर्खास्त, 10 साल में हुई अनुकंपा नियुक्तियों की होगी जांच

    Published: Sat, 14 Oct 2017 04:12 AM (IST) | Updated: Sat, 14 Oct 2017 04:12 AM (IST)
    By: Editorial Team

    फर्जी तरीके से अनुकंपा अनुदान की पात्रता वालों को स्वास्थ्य विभाग में अनुकंपा नियुक्ति देने का मामला

    सीएमएचओ में पदस्थ 5 कर्मचारियों पर कार्रवाई प्रस्तावित, जेडी को पत्र भेजा

    सागर। नवदुनिया प्रतिनिधि

    सीएमएचओ ने शुक्रवार को एक आदेश जारी कर विभाग में पदस्थ 8 कर्मचारियों की सेवा समाप्त करने का आदेश जारी किया है। अनुकंपा नियुक्ति घोटाले में करीब 13 लोगों को पूर्व के वर्षों में अनुकंपा नियुक्तियां दी गई थीं। इनमें से 8 नियुक्तियां पूर्ण रूप से गलत पाई गई थीं। लंबी जांच के बाद विभाग के रीजनल डायरेक्टर की अनुशंसा के बाद सभी को नोटिस जारी कर दिए गए हैं। नियुक्तियां जिन अधिकारियों के कार्यकाल में हुई उस दौरान कमेटी में कौन-कौन अधिकारी कर्मचारी थे, उन पर कार्रवाई प्रस्तावित की गई है। यह कार्रवाई उच्च स्तर से की जाना प्रस्तावित है। सीएमएचओ डॉ. इंद्राज सिंह ठाकुर ने पिछले 10 साल में विभाग में हुई अनुकंपा नियुक्तियों की जांच के निर्देश भी दिए हैं।

    स्वास्थ्य विभाग में पूर्व के वर्षों में गलत तरीके से अनुकंपा नियुक्तियां की गई थीं। मामले में कमिश्नर सागर संभाग से शिकायत की गई थी। कमिश्नर ने स्वास्थ्य विभाग के ज्वाइंट डायरेक्टर को कमेटी बनाकर जांच का जिम्मा सौंपा था। जेडी स्तर से सीएमएचओ को कमेटी बनाकर जांच कराने के निर्देश दिए थे। सीएमएचओ डॉ. इंद्राज सिंह ठाकुर ने 5 सदस्यीय कमेटी बनाकर दस्तावेजों के परिक्षण व जांच के आदेश दिए थे। कमेटी ने करीब डेढ़ महीने तक फाइलों में सिर खपाया तो एक के बाद गड़बड़ियां सामने आ गईं। मामले में आठ कर्मचारियों की नियुक्तियां गलत पाई गई थीं।

    इन कर्मचारियों को किया गया बर्खास्त

    विनय पटेल, जिला चिकित्सालय, अमर वाल्मीकि, जिला चिकित्सालय, अंकित वाल्मीकि, जिला चिकित्सालय, सौरभ वाल्मीकि, जिला चिकित्सालय, विपिन वाल्मीकि, जिला मलेरिया अधिकारी, आशाबाई पारोची सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खुरई, लक्ष्मी वाल्मीकि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र राहतगढ़, कोमल वाल्मीकि, पीएचसी खिमलासा खुरई को बर्खास्त किया गया है।

    अनुकंपा अनुदान मिलना था, उन्हें नौकरी दे दी गई

    अधिकारियों के अनुसार जिन आठ कर्मचारियों को गलत और अवैध तरीके से अनुकंपा नियुक्तियां दी गई हैं वे अनुकंपा नियुक्ति की पात्रता ही नहीं रखते थे। उन्हें अनुकंपा अनुदान दिया जाना था, लेकिन कागजों में हेरफेर कर उन्हें अनुकंपा नियुक्तियां दे दी गई थीं। कई नियुक्तियों में तो मार्कशीट और अन्य प्रमाण-पत्रों में ओवर राइटिंग की बात भी सामने आई है। कुल मिलाकर अपात्र लोगों को नियुक्ति देने के लिए हर हथकंडा अपनाया था।

    तत्कालीन सीएमएचओ सहित 5 पर कार्रवाई के लिए लिखा

    अनुकंपा नियुक्ति घोटाले में सीएमएचओ में पदस्थ तत्कालीन अधिकारियों और कर्मचारियों पर भी कार्रवाई प्रस्तावित की गई है। इसमें तत्कालीन सीएमएचओ डॉ. एनके सैनी, क्लर्क आरपी सिंह, दीपक शर्मा, कुंवर सिंह सहित महिला कर्मचारी सरिता ठाकुर के खिलाफ कार्रवाई प्रस्तावित की गई है। सीएमएचओ कार्यालय से विभाग के रीजनल डायरेक्टर को कार्रवाई करने के लिए पत्र भेजा गया है।

    आठ को बर्खास्ती के नोटिस दिए गए हैं

    अनुकंपा नियुक्तियों की जांच कमेटी की रिपोर्ट व वरिष्ठ कार्यालय से आदेश आने के बाद 8 कर्मचारियों को बर्खास्तगी के नोटिस जारी किए गए हैं। इन नियुक्तियों में तत्कालीन 5 अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्रवाई प्रस्तावित की गई है। वरिष्ठ कार्यालय से इन पर कार्रवाई होगी। अन्य अनुकंपा नियुक्तियों के मामले में भी जांच की जा रही है।

    - डॉ. इंद्राज सिंह ठाकुर, सीएमएचओ, सागर

    और जानें :  # sagar news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें