Naidunia
    Sunday, October 22, 2017
    PreviousNext

    अभी न बीना जिला बनेगा और न खुरई

    Published: Sat, 14 Oct 2017 04:14 AM (IST) | Updated: Sat, 14 Oct 2017 04:14 AM (IST)
    By: Editorial Team

    क्रमिक अनशन के 50 दिन पूरे होने पर हुआ विराट आंदोलन, शहर में रैली

    बीना। नवदुनिया न्यूज

    जिला बनाओ संघर्ष समिति से 25 अगस्त से शुरू किए गए क्रमिक अनशन को 50 दिन पूरे हो गए हैं। इस अवसर पर संघर्ष समिति द्वारा विराट आंदोलन का आयोजन किया गया। शहर में सुबह के समय रैली निकाली गई और दोपहर में दिन भर आमसभा का दौर चला। सुबह 10 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक चले आंदोलन में सभी पार्टियों के प्रतिनिधियों को बीना को जिला बनाने की मांग दोहराई। विधायक ने उपस्थित जनता को आश्वस्त किया कि बीना ही जिला बनेगा। फिलहाल शासन के पास बीना व खुरई किसी भी शहर को जिला बनाने का प्रस्ताव नहीं है।

    जिला बनाओ संघर्ष समिति द्वारा सर्वोदय चौराहे से रैली शुरू की पूरे शहर में भ्रमण कर चौराहे पर समापन किया गया। इस दौरान लगातार बीना को जिला बनाने की मांग को नारों के साथ दोहराया जा रहा था। आंदोलन के 50 दिन पूरे होने पर क्रमिक अनशन में 50 से अधिक लोगों ने भागीदारी की। इनमें शहर सहित ग्रामीण क्षेत्र से आए लोग शामिल रहे।

    संघर्ष समिति सदस्य खुर्रम कुरैशी ने बताया कि क्रमिक अनशन में राजेंद्र बबेले, संदेश अग्रवाल, सतेंद्र सिसोदिया, कुंजीलाल कुशवाहा, हीरालाल अहिरवार, निरमा अहिरवार, प्रकाश अहिरवार, किशनलाल, ब्रजभान, चंद्रभान सिंह, रामनाथ, विनोद कुमार, प्रेमनारायण, नंदलाल, चित्तर सिंह, मोतीलाल, राकेश धानक, ओमप्रकाश धानक, संजय सिंह, राजेश अहिरवार, रामप्रसाद, घनश्याम, तुलसीराम, हरीसिंह सहित अन्य लोग शामिल रहे। ग्राम गिरौल से आए किशोर बंसल ने जिला बनाने की मांग को लेकर एक गीत प्रस्तुत किया, जिसे उपस्थित लोगों ने सराहा और साथ-साथ दोहराया भी। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस महासचिव वीरसिंह यादव ने कहा कि हमारी पीढ़ियां बीना में गुजरी हैं और हम बीना को जिला बनाने की मांग लगातार दोहराते रहेंगे।

    ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष दीनदयाल उपाध्याय ने आंदोलन को समर्थन देते हुए कहा कि 1987 से बीना को जिला बनाने की मांग उठाई जा रही है। मांग अब भी जारी है और जब तक शासन इस मांग को पूरा नहीं करता है। बीना की जनता आंदोलन करती रहेगी। भाजपा के ग्रामीण मंडल अध्यक्ष घनश्याम साहू ने कहा कि लोग पड़ोसी विधानसभा की बात करते हैं, एक बार वहां जाकर देखो तो कि कितने लोग आंदोलन कर रहे हैं। एक-दो लोगों से ज्यादा वहां मंच पर मौजूद नहीं रहते। अधिवक्ता केके ताम्रकार ने कहा कि हमारा मुल्क पड़ोसी देश से परेशान है और हम बीना वाले भी पड़ोसी विधानसभा से परेशान हो रहे हैं।

    वन टू वन में केवल बीना जिला ही रहेगा मुद्दा

    विधायक महेश राय ने आंदोलन को संबोधित करते हुए कहा कि लोगों की भावनाएं हैं कि बीना जिला बने। बार-बार नजदीकी विधानसभा से उठ ने वाली मांग का जिक्र होता है तो मैं यहां बता देना चाहता हूं कि अभी शासन न तो खुरई को जिला बना रहा है और न ही बीना को। प्रदेश में जब भी किसी शहर केा जिला बनाया जाएगा, उसमें सबसे पहले नाम बीना का ही रहेगा। विधायक ने कहा कि सीएम से मेरी बात हुई है, जिसमें हमने बीना की जनता की प्रमुख मांग से उन्हें अवगत कराया है। शुक्रवार को वन-टू-वन में भी केवल एक बात ही हमारा मुद्दा रहेगी और वह है बीना को जिला बनाना। उन्होंने कहा कि मेरे बीना विधायक रहते कोई और शहर जिला नहीं बन सकता। कार्यक्रम को नपाध्यक्ष नीतू राय, दिवाकर विश्वकर्मा, डॉ दिग्वेंद्र शर्मा, जगप्रीत सिंह भोगल, अशोक मिश्रा, शशि कैथोरिया सहित अन्य ने संबोधित किया। इस अवसर पर मंडी अध्यक्ष लोकेंद्र सिंह, वीरेंद्र जैन, पीपी नायक, रज्जू सेन, महेंद्र सिंह, ओपी लारोट, सुनीता राय, विनय चतुर्वेदी, अजय ठाकुर, अभिषेक बिलगैयां, विवेक मिश्रा सहित अन्य मौजूद रहे।

    1310 एसए 141 : विराट आंदोलन में मौजूद जनसमुदाय।

    और जानें :  # sagar news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें