Naidunia
    Friday, December 15, 2017
    PreviousNext

    तहसील में अधिवक्ताओं और पक्षकार में विवाद, पक्षकार पर मामला दर्ज

    Published: Sat, 14 Oct 2017 04:14 AM (IST) | Updated: Sat, 14 Oct 2017 04:14 AM (IST)
    By: Editorial Team

    पेशी की तारीख आगे बढ़ाने को लेकर हुआ था विवाद

    बीना। नवदुनिया न्यूज

    आगासौद की एक जमीन को लेकर तहसील न्यायालय में चल रहे प्रकरण में तारीख आगे बढ़ाने को लेकर पक्षकार और अधिवक्ता में बहस हो गई। मामला इतना बढ़ा कि बाद में अधिवक्ताओं और पक्षकार के बीच हाथापाई हो गई। अधिवक्ताओं ने सामूहिक रूप से पुलिस थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई है। अधिवक्ताओं की शिकायत पर पुलिस ने पक्षकार के विरुद्घ प्रतिबंधात्मक कार्रवाई करते हुए न्यायालय पेश किया, जहां से सक्षम जमानत पर उसे रिहा कर दिया गया। हालांकि इसका अधिवक्ताओं द्वारा विरोध भी किया गया।

    जानकारी अनुसार रेखा पत्नी नरेश जैन ने आगासौद में जमीन क्रय की थी। इस जमीन को लेकर कपूरचंद जैन के साथ कुछ विवाद था, जिसका प्रकरण धारा 250 के तहत अधिवक्ता देवेंद्र उपाध्याय के माध्यम से रेखा जैन ने तहसील न्यायालय में लगाया था। इस प्रकरण में पिछले तीन दिनों से लगातार पेशियां दी जा रही थीं और रेखा जैन सहित अन्य गवाहों के बयान हो चुके थे।

    तहसीलदार कमलेश अग्रवाल द्वारा 13 अक्टूबर की तारीख प्रति परीक्षण के लिए लगाई गई थी। दोपहर 12 बजे के लगभग कपूरचंद जैन की ओर से अधिवक्ता अशोक जैन पहुंचे, उस वक्त तहसीलदार निर्वाचन कार्य में व्यस्त थे। लिहाजा नोटशीट पर उन्होंने अपनी उपस्थिति का समय डाल दिया। लगभग एक घंटे बाद वह पुनः तहसील न्यायालय पहुंचे और तहसीलदार के मौजूद न होने पर अपनी उपस्थिति और समय डालने लगे। इसका रेखा जैन के पति नरेश जैन ने विरोध किया। बात ही बात में विवाद बढ़ा और तहसील में मौजूद एक अधिवक्ता ने नरेश जैन को मां की गाली दे दी। इस पर नरेश जैन ने अपनी 85 वर्ष की मां का हवाला देते हुए गाली का विरोध किया। तहसील परिसर में हुए हंगामे के बाद बड़ी संख्या में अधिवक्तागण एकत्रित हो गए और सामूहिक रूप से नरेश जैन के साथ अभद्रता करते हुए उसके साथ मारपीट करने लगे। उपस्थित कुछ अधिवक्ताओं ने मध्यस्थता की और नरेश जैन को अलग किया।

    थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई

    घटना के बाद अधिवक्ता एकत्रित हुए और अधिवक्ता संघ अध्यक्ष अशोक जैन के साथ पुलिस थाने पहुंचे। यहां सभी अधिवक्ताओं ने नरेश जैन द्वारा अभद्रता किए जाने की शिकायत टीआई आलोक सिंह परिहार से की। सूचना पर पुलिस ने नरेश जैन को तहसील से गिरफ्तार किया और पुलिस थाने लेकर आई। अधिवक्ताओं के विरोध पर पुलिस ने प्रतिबंधात्मक कार्रवाई का आश्वासन दिया।

    जमानत को लेकर अधिवक्ताओं में हुआ विवाद

    पुलिस ने नरेश जैन को धारा 151 के तहत गिरफ्तार कर कार्यपालिक दंडाधिकारी के समक्ष पेश किया। जहां नरेश जैन की ओर से अधिवक्ता देवेंद्र उपाध्याय ने सक्षम जमानत प्रस्तुत की। लेकिन अन्य अधिवक्ताओं ने सामूहिक रूप से जमानत का विरोध किया। तहसील न्यायालय में अधिवक्ताओं के दो पक्षों में विवाद चला। जिसके बाद कार्यपालिक दंडाधिकारी कमलेश अग्रवाल ने दोनों पक्षों को सुना और सक्षम जमानत होने पर नरेश जैन को जमानत का लाभ दिया।

    ---------------

    1310 एसएस 142 : तहसील से नरेश जैन को ले जाती पुलिस।

    1310 एसएस 143 : पुलिस थाने में शिकायत करते अधिवक्तागण।

    1310 एसएस 144ः तहसील परिसर में नरेश जैन को धकियाते अधिवक्तागण।

    और जानें :  # sagar news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें