Naidunia
    Saturday, November 25, 2017
    PreviousNext

    बिना नियम-कायदों के बिक रही कीटनाशक दवा, 12 ने गंवाई जान

    Published: Wed, 15 Nov 2017 06:18 PM (IST) | Updated: Wed, 15 Nov 2017 06:18 PM (IST)
    By: Editorial Team

    पेज 14 की लीड ...

    - 11 महीने में कीटनाशक पीने के 59 मामले सामने आए, 47 रहे किस्मत वाले

    - कीटनाशक की खुली बिक्री पर प्रतिबंध का नियम नहीं

    बीना। नवदुनिया न्यूज

    अलग-अलग कारणों से पिछले 11 माह में 59 लोगों ने कीटनाशक पीकर जान देने का प्रयास किया है। इसमें से 47 लोग किस्मत वाले रहे जिनको समय पर इलाज मिलने से इनकी जान बच गई। वहीं 12 लोगों की कीटनाशक पीने से मौत हो गई। इसके बाद भी शहर में खुलेआम बिक रही कीटनाशक की बिक्री पर कोई प्रतिबंध नहीं है।

    कृषि विभाग के अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक शहर में 27 लाइसेंसधारी ऐसे दुकानदार हैं जो कीटनाशक बेचते हैं। कीटनाशक की खुली बिक्री के लिए कोई नियम न होने के कारण शहर में जगह-जगह कीटनाशक बिक रहा है। बिना नाम, पता बताए कोई भी दुकान पर जाकर कीटनाशक खरीदकर सकता है। फसलों की सुरक्षा के लिए बिकने वाली कीटनाशक इंसानों के लिए खतरा साबित हो रही है। छोटी-छोटी बातों में ताव में आकर लोग कीटनाशक पी लेते हैं। कई लोग तो यह कदम डराने के लिए अख्तियार करते हैं, लेकिन इलाज में देरी होने पर उनकी जान चली जाती है। कीटनाशक पीकर अस्पताल आने वाले मरीज इसका जीता जागता उदाहरण हैं। कीटनाशक पीने वाले जिन लोगों की इलाज से जान बच जाती है, वह पुलिस के सामने पूरी कहानी बयां करते हैं। जबकि कुछ लोग ऐसे होते हैं जो छूठी कहानी बनाकर कहते हैं कि उन्होंने दवा समझकर कीटनाशक का सेवन कर लिया।

    सख्ती से होना चाहिए पालन

    कीटनाशक बिक्री के संबंध में पहले से ही कुछ नियम हैं। इसमें कोई भी दुकानदार नाबालिग बच्चों को कीटनाशक नहीं दे सकता। नियमों को और कठोर करने की आवश्यकता है। कीटनाशक दवा केवल किसानों को दी जानी चाहिए। कीटनाशक खरीदने वाले से प्रूफ लेना चाहिए कि वह किसान ही है। हर किसी को बिना कीटनाशक नहीं देना चाहिए। अगर नियम सख्त हो जाएंगे तो कुछ हद तक कीटनाशक पीने से होने वाली मौतों पर अंकुश लग सकता है।

    रघु प्रसाद, एसडीओपी, बीना

    ऐसा कोई नियम नहीं

    कीटनाशक की बिक्री के लिए दिए जाने वाले लाइसेंस में शर्त रहती है कि वह किसी नाबालिग को कीटनाशक नहीं देगा। रही बात किसानों से प्रूफ लेने की तो ऐसा कोई नियम नहीं है। कीटनाशक खरीदने के लिए किसी को बाध्य नहीं किया जा सकता। नियम बनाने के बाद भी किसान प्रूफ देने में आनाकानी करेंगे। अभी तक कीटनाशक की खुली बिक्री पर किसी तरह का प्रतिबंध नहीं है। बस बिना लायसेंस कीटनाशक बेचना कानून के विरुद्ध है।

    एमके नरवरिया, वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी, बीना

    1511 एसए 142 बीना। दुकानों से हो रही कीटनाशक की खुलेआम बिक्री।

    और जानें :  # sagarnews
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें