Naidunia
    Friday, November 24, 2017
    PreviousNext

    बाल मेले में बच्चे के हाथों से बने व्यंजनों का स्वाद चखा, सराहना की

    Published: Wed, 15 Nov 2017 06:23 PM (IST) | Updated: Wed, 15 Nov 2017 06:23 PM (IST)
    By: Editorial Team

    - ईशुरवारा स्कूल में लगा मेला

    ईशुरवारा। नवदुनिया न्यूज

    देश के पहले प्रधानमंत्री पं. जवाहरलाल नेहरू की जयंती बाल दिवस पर शासकीय मिडिल स्कूल ईशुरवारा में बाल मेले का आयोजन किया गया। बाल मेले में स्कूल के छात्र-छात्राएं घर से व्यंजन बनाकर लाए, जिनके स्टॉल स्कूल परिसर में सजाए गए। संस्था प्रभारी कोमल सिंह यादव ने फीता काटकर मेले का शुभारंभ किया। सरपंच रंजना विश्कर्मा ने चाचा नेहरू के चित्र माल्यार्पण कर किया। अतिथि वक्ताओं ने पं. नेहरू के जीवन चरित्र के बारे में बताया। वहीं बाल मेले में बच्चे अमरुद, बेर मिठाई, सीताफल, चने सहित चाट, फुल्की, समोसे आकर लेकर पहुंचे। अतिथियों सहित अभिभावकों ने स्टॉलों पर पहुंचकर व्यंजनों का स्वाद चखा व बच्चों की सराहना की। मेले में शिक्षक शरद शर्मा, संदीप नाहर, कंचन पाठक आदि मौजूद थीं।

    ताला का स्टॉल रहा विशेष आकर्षण का केंद्र

    शासकीय स्कूल में लगे बाल मेले के दौरान सभी का आकर्षण का केंद्र गांव में ही बनने वाले मजबूत लोहे के सरोरिता ताले का स्टॉल रहा। गांववालों ने बताया कि एक जमाना था जब ईशुरवारा का सरोतिया ताला पूरे क्षेत्र में धूम मचाता था। प्रदेश ही नहीं बल्कि दूसरे प्रदेश में भी यहां के तालों की बिक्री हुआ करती थी। सरोतिया ताला मजबूत होने के साथ-साथ बहुत ही बोजोड़ होता था। लेकिन धीरे-धीरे यहां का ताला अपनी पहचान खोता चला गया। अब चंद लोग ही बचे हैं, जो लोगों की डिमांड पर सरोतिया ताले बनाते हैं। बच्चे द्वारा बाल मेले में ताले का स्टॉल लगाए जाने की सभी ने सराहना की।

    1511 एसए 154 ईशुरवारा। बाल मेले का शुभारंभ करते प्रधानाध्यापक व अन्य।

    1511 एसए 155 ईशुरवारा। बच्चों द्वारा लगाए स्टॉल अवलोकन करते अतिथि।

    और जानें :  # sagarnews
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें