Naidunia
    Friday, November 24, 2017
    PreviousNext

    धूमधाम से निकली राजा भरत चक्रवर्ती की दिग्विजय यात्रा

    Published: Wed, 15 Nov 2017 06:50 PM (IST) | Updated: Wed, 15 Nov 2017 06:50 PM (IST)
    By: Editorial Team

    बांदरी। नवदुनिया न्यूज

    दिगंबर जैन मंदिर में विराजमान विदुषी आर्यिका संघ के सानिध्य में वनविभाग परिसर में आयोजित किए जा रहे श्रीइंद्रध्वज महामंडल विधान के दौरान बुधवार को राजा भरत चक्रवर्ती की दिग्विजय यात्रा धूमधाम से निकाली गई। इसमें नगर के बड़ी संख्या में धर्म प्रेमियों ने भाग लिया। भव्य दिग्विजय यात्रा गाजे-बाजे के साथ निकाली गई। श्रद्धालुओं की भक्ति और उत्साह देखते ही बना। बांदरी के वन विभाग परिसर में श्रीइंद्र ध्वज महामंडल विधान आर्यिकाश्री गुणमतिमाता, आर्यिकाश्री ध्येयमति माता , आर्यिकाश्री आत्ममति माता, आर्यिकाश्री संयतमति माताजी के सानिध्य में हो रहा है। विधान के दौरान राजा भरत चक्रवर्ती की दिग्विजय यात्रा निकाली गई, जिसमें क्षेत्र के बड़ी संख्या में जैन श्रद्धालु शामिल हुए। नरेश जैन ने बताया कि यह विधान विश्वधाांति की स्थापना और प्राणी मात्र के उद्धार के लिए किया जा रहा है। अभय जैन कल्लू ने बताया कि विधान के माध्यम से यह शिक्षा दी जाती है कि प्राणी कैसे मोक्ष मार्ग प्राप्त कर सकता है। दिग्विजय यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं का कारवां बैंडबाजों व आकर्षक साज-सज्जा के साथ पूरे नगर में घूमा। मुख्य पात्र बग्घी पर सवार होकर चल रहे थे। इस मौके पर बैंड व ढोल-नगाड़े बज रहे थे, जिन पर युवा नृत्य करते हुए चल रहे थे। श्रद्धालुओं ने अपने घरों के सामने रंगोली सजाई ।

    1511 एसए 1512 बांदरी। दिग्विजय यात्रा के दौरान बग्घी पर सवार इंद्र-इंद्राणी।

    और जानें :  # sagarnews
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें